नेपोलियन बोनापार्ट

नेपोलियन बोनापार्ट

  • नेपोलियन बोनापार्ट का जन्म 15 अगस्त, 1769 में कोर्सिका के अजैसियों में हुआ था।
  • नेपोलियन बोनापार्ट के पिता का नाम कार्लो बोना पार्ट था।
  • नेपोलियन बोनापार्ट फ्रांस की क्रांति में सेनापति था।
  • 1798 में नेपोलियन ने मिस्र के नगर अलेक्जेंड्रिया पर अधिकार कर लिया था।
  • फ्रांस का प्रथम काउंसल (फ्रांस में एक पद था) बनने के बाद नेपोलियन ने फ्रांस के लिए नवीन संविधान बनाया। जिसे नेपोलियन कोड के नाम से जाना जाता है।
  • इसने 1800 में बैंक ऑफ फ्रांस की स्थापना की।
  • नेपोलियन ने जो नवीन संविधान फ्रांस के लिए बनाया था उससे पोप संतुष्ट नहीं थे। अतः 1801 से पोप के साथ समझौता किया जिसे “कॉनकारडेट” (Concordat) कहा जाता है।
  • 1804 ई० में वह फ्रांस का सम्राट बन गया और अपनी पहली पत्नी जोजेफाइन को तलाक देकर ऑस्ट्रिया की राजकुमारी मोरिया लुईसा से विवाह कर लिया।
  • नेपोलियन बोनापार्ट के पतन का मुख्य कारण 1812 में रूस पर आक्रमण था।
  • नेपोलियन ने आखरी युद्ध वाटरलू के मैदान में 1815 में लड़ा था। मित्र राष्ट्रों (4 देश- ऑस्ट्रिया, रूस, स्वीडन, इंग्लैण्ड) के खिलाफ लड़ा था। इस युद्ध में नेपोलियन हार गया था।
  • इस युद्ध में इंग्लैण्ड की सेना का नेतृत्व लॉर्ड वेलेजली ने किया था।
  • हार के बाद नेपोलियन बोनापार्ट को अटलांटिक महासागर के सेंट हेलेना द्वीप भेज दिया गया था। वहीं 1821 में नेपोलियन बोनापार्ट की मृत्यु कैंसर के कारण हो गयी।
  • नेपोलियन बोनापार्ट ने इंग्लैंड को बनियों का देश कहा था।
  • समुद्रगुप्त को भारत का नेपोलियन भी कहा जाता है।
HISTORY Notes पढ़ने के लिए — यहाँ क्लिक करें

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.

*