भारत के द्वीप समूह Important Notes in Hindi

भारत के द्वीप समूह

भारत के द्वीप समूह Important Notes in Hindi : भारत के द्वीप समूहों से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य ( Notes in Hindi) यहाँ दिए गए हैं जोकि विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में बार-बार पूछे जाते हैं।

भारत के द्वीप समूह Important Notes in Hindi

भारत के द्वीप समूह Important Notes in Hindi

भारत के द्वीप समूह

  • भारत के पास कुल 1208 द्वीप समूह हैं। ये संख्या सभी छोटे-छोटे द्वीपों को मिलाकर है।
  • अंडमान निकोबार द्वीप समूह सबसे बड़ा द्वीप समूह है।
  • लक्षद्वीप सबसे छोटा द्वीप समूह है।

अंडमान निकोबार

  • बर्मा (म्यांमार) में हिमालय पर्वत को अराकान योमा पर्वत कहा जाता है, इसे रखाइन पर्वतमाला भी कहते हैं तथा इसका फैलाव उत्तर से दक्षिण की ओर है। यही पर्वत श्रृंखला आगे बंगाल की खाड़ी में समुद्र के नीचे से ऊपर उठती है जिसे अंडमान निकोबार द्वीप समूह कहा जाता है।
  • अंडमान निकोबार एक केन्द्र शासित प्रदेश है।
  • अंडमान निकोबार द्वीप की राजधानी “पोर्ट ब्लेयर” है।
  • कुल द्वीपों की संख्या 572 है। सभी छोटे-छोटे द्वीप मिलाकर।
  • गिनने लायक द्वीप 349 हैं।
  • अंडमान निकोबार द्वीप समूह चार भागों में बंटा हुआ है –
    • उत्तर अंडमान
      • अंडमान निकोबार द्वीपसमूह का सबसे उच्चतम बिन्दु “सैडल पीक” यहीं पर है जिसकी ऊंचाई 732 मीटर है।
    • मध्य अंडमान
      • पूरे द्वीपसमूह का सबसे बड़ा भाग यही है।
    • दक्षिण अंडमान
      • अंडमान निकोबार द्वीप की राजधानी “पोर्ट ब्लेयर” यही पर स्थित है ।
    • लिटिल अंडमान
      • दक्षिण अंडमान तथा लिटिल अंडमान के बीच के भाग को “डंकन पैसेज” कहा जाता है।
  • अंडमान द्वीपसमूह के पास (ऊपर की तरफ) ग्रेट कोको द्वीप एवं लिटिल कोको द्वीप है। इन दोनों पर ही म्यांमार का अधिकार है।
  • उत्तरी अंडमान द्वीप के पास ही नारकोंडम द्वीप (नर्कोन्दम द्वीप) एवं बैरन द्वीप स्थित है यो दोनो ही द्वीप भारत के अधिकार में है। इन दोनों ही द्वीपों पर ज्वालामुखी स्थित हैं। बैरन द्वीप पर स्थित ज्वालामुखी अभी सक्रीय हैं।

निकोबार द्वीप समूह

लिटिल अंडमान के नीचे “10° चैनल” पड़ता है और उसके बाद निकोबर द्वीप समूह शुरू हो जाता है

  • निकोबार द्वीप समूह तीन भागो में बटा है।
    • कार निकोबार
    • लिटिल निकोबार (बीच में)
    • ग्रेट निकोबार
  • निकोबार द्वीप समूह का सबसे दक्षिणी बिन्दू जोकि भारत का भी दक्षिणी बिन्दू है ग्रेट निकोबार पर पड़ता है। इसे “इन्द्रा पॉइंट” या “पिग मेलियन पॉइंट” के नाम से जाना जाता है।

लक्षद्वीप द्वीपसमूह

  • लक्षद्वीप समूह अरब सागर में है।
  • लक्षद्वीप एक केन्द्र शासित प्रदेश है। सबसे छोटा केन्द्र शासित प्रदेश है। क्षेत्रफल मात्र 32 वर्ग कि०मी० है।
  • लक्षद्वीप की राजधानी “कवरत्ती” है।
  • लक्षद्वीप द्वीपसमूह का सबसे दक्षिणी द्वीप मिनिकॉय द्वीप है। इसका क्षेत्रफल 4.83 वर्ग कि०मी० है।
  • लक्षद्वीप समूह का सबसे बड़ा द्वीप अन्ड्रोट द्वीप सबसे बड़ा द्वीप है। जिसका क्षेत्रफल  4.98 वर्ग कि०मी० है।

अन्य महत्वपूर्ण द्वीप

  • न्यू मूर द्वीप एवं गंगा सागर द्वीप बंगाल की खाड़ी में हुगली नदी के तट के पास हैं।
  • उड़ीसा के तट पर व्हीलर द्वीप या अब्दुल कलाम द्वीप है जोकि ब्राह्मणी नदी के मुहाने पर बनता है। यहां से मिसाइल का परीक्षण किया जाता है।
  • आंध्र प्रदेश के तट पर श्रीहरिकोटा द्वीप है। यहां पर सतीश धवन स्पेस रिसर्च सेंटर स्थित है। सतीश धवन 2002 में इसरो के अध्यक्ष रहे थे।
  • पम्बन द्वीप या रामेश्वरम द्वीप तमिलनाडु के तट पर है। रामेश्वरम मंदिर यही पर है।
  • पम्बन द्वीप के सबसे दक्षिणी भाग को धनुषकोडी कहा जाता है। इसके बाद राम सेतु शुरू हो जाता है।
  • श्रीलंका एवं भारत के बीच में मन्नार की खाड़ी है।
  • गुजरात में नर्मदा नदी के मुहाने पर खंभात की खाड़ी में आलिया बेट द्वीप है। एलीफेंटा की गुफाएं इसी द्वीप में स्थित हैं।
Geography Notes पढ़ने के लिए — यहाँ क्लिक करें

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.

*