भारत के प्रमुख जलप्रपात

भारत के प्रमुख जलप्रपात

भारत के प्रमुख जलप्रपात :- भारत के प्रमुख जलप्रपात (Waterfall) मुख्यतः दक्षिण भारत में पाए जाते हैं। भारत के प्रमुख जलप्रपातों का राज्य वार विवरण यहाँ दिया गया है। जलप्रपात को सामान्य बोल-चाल की भाषा में झरना कहा जाता है। Major waterfalls of India Notes in Hindi.

जलप्रपात किसे कहते हैं ?

जलप्रपात उस स्थल को कहते हैं जहाँ नदी का पानी पहाड़ की चट्टान से नीचे भूमि पर गिरता है। अगर पानी सामान्य मात्रा में और कम ऊंचाई से भूमि पर गिरता है तो उसे जलप्रपात कहते हैं और अगर नदी का पानी अधिक मात्रा में और अधिक ऊंचाई से गिरता है तो उसे महा-जलप्रपात कहा जाता है।

भारत के राज्य वार प्रमुख जलप्रपात

भारत के प्रमुख जलप्रपातों का राज्य वार विवरण निम्नवत है –

राजस्थान

  • चुलिया जलप्रपात
    • चंबल नदी पर है।
    • कोटा राजस्थान में।
    • 18 मी० की ऊँचाई है।

मेघालय

  • नोहकलिकाई जलप्रपात
    • बारिश के पानी के कारण बनता है।
    • 340 मी० ऊँचाई है।

झारखंड

  • हुंडरू जलप्रपात
    • स्वर्ण रेखा नदी पर बनता है।
    • 74 मी० ऊँचाई है।
  • राजरप्पा जलप्रपात
    • दामोदर एवं भीरा नदी के कारण बनता है।
    • भीरा नदी को भैरव नदी के नाम से भी जाना जाता है।
    • झारखंड में रामगढ़ में स्थित है।

उड़ीसा

  • बरेहीपानी जलप्रपात
    • बुधबलंग नदी के मार्ग में बनता है।
    • ऊँचाई 399 मी० है।
  • डुडुमा(दुदुमा) जलप्रपात
    • मस्कुण्ड नदी के मार्ग में बनता है।

मध्यप्रदेश

  • धुआँधार जलप्रपात
    • नर्मदा नदी पर जबलपुर में बनता है।
    • इसकी ऊँचाई 15 मी० है।
  • कपिलधारा जलप्रपात
    • नर्मदा नदी पर बनता है।
    • अमरकंटक से 7 कि०मी० की दूरी पर स्थित है।
    • इसकी ऊँचाई 33 मी० है।

महाराष्ट्र

  • वजराई जलप्रपात
    • उरमोडी नदी पर बनता है।
    • ऊँचाई 260 मी० है।
  • अम्बोली घाट जलप्रपात
    • हिरण्यकेशी नदी पर बनता है।
    • इसकी ऊँचाई 690 मी० है।

तमिलनाडु

  • होगेनक्कल जलप्रपात
    • कावेरी नदी पर बनता है।
    • इसकी ऊँचाई 20 मी० है।
  • पाइकारा जलप्रपात
    • पाइकारा नदी पर बनता है।
    • उटी या उटकमण्डल के पास स्थित है।

केरल

  • पालारूवी जलप्रपात
    • इसकी ऊँचाई 90 मी० है।

कर्नाटक

  • जोग जलप्रपात
    • गोरसोप्पा जलप्रपात भी कहते है।
    • शरावती नदी पर बनता है।
    • ऊँचाई 253 मी० है।
  • शिवसमुद्रम जलप्रपात
    • कावेरी नदी पर है।
    • भारत का द्वितीय सबसे ऊंचा जलप्रपात है।
    • इसकी ऊँचाई 98 मी० है।
  • दूधसागर जलप्रपात
    • मांडवी नदी पर बनता है।
    • गोवा कर्नाटक की सीमा पर बनता है।
    • इसकी ऊँचाई 30 मी० है।
  • कुंचिकल जलप्रपात (कुंचीकल धबधबा जलप्रपात)
    • कुंचिकल जलप्रपात (कुंचीकल धबधबा जलप्रपात) भारत का सबसे ऊँचा जल प्रपात है।
    • इसकी ऊँचाई 455 मी० है।
    • वराही नदी पर बनता है।
  • गोकक जलप्रपात
    • घाटप्रभा नदी (घटप्रभा नदी) पर बनता है, कृष्णा नदी की सहायक नदी है।
  • मेकेदातु जलप्रपात
    • कावेरी नदी पर है।
Geography Notes पढ़ने के लिए — यहाँ क्लिक करें

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.

*