भारतीय राष्ट्रीय दिवस - भारतीय राष्ट्रीय दिवस की सूची

भारतीय राष्ट्रीय दिवस – भारतीय राष्ट्रीय दिवस की सूची

भारतीय राष्ट्रीय दिवस (महत्वपूर्ण राष्ट्रीय दिवस) – भारतीय राष्ट्रीय दिवस की सूची (List of Indian National Days in Hindi) में भारत में मनाये जाने वाले महत्वपूर्ण दिवस की सूची एवं कौन सा राष्ट्रीय दिवस क्यों मनाया जाता है यह बताया गया है।

Table of Contents

राष्ट्रीय दिवस क्या है

जब एक देश का उदय किसी दिन या तिथि में राष्ट्रीय रूप हुआ होता है तो उस दिन को राष्ट्रीय दिवस के रूप में जाना जाता है। राष्ट्रीय दिवस वह दिन होता है जिसमें एक राष्ट्र या राज्य की राष्ट्रीयता को दर्शाए जाने हेतु उत्सव मनाया जाता है। भारतीय इतिहास में राष्ट्रीय दिवस को अलग-अलग समय पर कई कारणों से मनाया जाता है। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से भारत के सभी महत्वपूर्ण राष्ट्रीय दिवस की जानकारी देने जा रहे हैं।

भारतीय राष्ट्रीय दिवस की सूची (महत्वपूर्ण राष्ट्रीय दिवस की सूची)

  • 12 जनवरी – राष्ट्रीय युवा दिवस (National Youth Day)

भारत में प्रतिवर्ष राष्ट्रीय युवा दिवस 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष्य्य में मनाया जाता है। राष्ट्रीय युवा दिवस को मनाने का उद्देश्य विद्यार्थियों को स्वामी विवेकानंद के विचारों, जीवन एवं दर्शन के प्रति जागरूक करना होता है। इसके माध्यम से छात्रों को प्रोत्साहित करने का प्रयास किया जाता है। भारत में 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाए जाने का निर्णय सन 1984 में लिया गया था। भारतीय सरकार का मानना था कि स्वामी विवेकानंद की जीवनी भारतीय विद्यार्थियों एवं युवाओं के लिए प्रेरणा का एक बड़ा स्रोत साबित हो सकती हैं जिसके लिए प्रति वर्ष राष्ट्रीय युवा दिवस को मनाया जाता है।

  • 15 जनवरी – राष्ट्रीय थल सेना दिवस (National Army Day)

राष्ट्रीय थल सेना दिवस को प्रतिवर्ष 12 जनवरी को लेफ्टिनेंट जनरल कोदंडेरा. एम. करियप्पा (General K. M. Cariappa) के भारतीय थल सेना के शीर्ष कमांडर का पदभार ग्रहण करने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। इसके अलावा राष्ट्रीय थल सेना दिवस को भारतीय जवानों एवं सेना की याद में भी मनाया जाता है। माना जाता है कि कोदंडेरा. एम. करियप्पा जनरल सर फ्रांसिस बुचर के पदभार को ग्रहण करने वाले अंतिम ब्रिटिश व्यक्ति थे। इन्होंने ‘जय हिंद’ के नारे को अपनाया था जिसका तात्पर्य ‘भारत की जीत’ से था।

  • 24 जनवरी – राष्ट्रीय बालिका दिवस (National Girl’s Day)

भारत में हर वर्ष 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस के रूप में मनाया जाता है। भारत सरकार ने बालिका दिवस की शुरुआत सन 2008 में की थी। 24 जनवरी को भारत के लगभग सभी सरकारी एवं गैर संस्कारी संस्थानों में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जिसमें देश की जनता को बालिकाओं के प्रति होने वाले अत्याचारों से संबंधी समस्याओं से जागरूक कराया जाता है। 24 जनवरी को देश के सभी संस्थानों द्वारा विभिन्न जागरूकता अभियान का संचालन किया जाता है। राष्ट्रीय बालिका दिवस को मनाया जाने का उद्देश्य बालिकाओं के साथ होने वाले भेदभाव, अत्याचार एवं बाल विवाह जैसी गंभीर समस्याओं की रोकथाम करना होता है।

  • 26 जनवरी – गणतंत्र दिवस (Republic Day)

भारत में प्रति वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है क्योंकि 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान पूरे देश में लागू किया गया था। गणतंत्र दिवस को पूरे भारत में एक राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाया जाता है जिसमें प्रत्येक भारतीय की मानसिक रूप से भूमिका होती है। भारतीय संविधान को देश की सरकार की कार्यप्रणाली का प्रतिनिधित्व करने की मानसिकता से लागू किया गया था। भारतीय विधान मंडल के द्वारा पर्याप्त विचार विमर्श करने के पश्चात भारत के संविधान को 26 जनवरी 1950 में लागू किया गया। 26 जनवरी के दिन को पूरे देश में भारी उत्साह एवं उल्लास के साथ मनाया जाता है। 26 जनवरी को पूरे देश में राष्ट्रीय अवकाश होता है।

  • 13 फरवरी – राष्ट्रीय महिला दिवस (National Women’s Day)

भारत में राष्ट्रीय महिला दिवस को 13 फरवरी के दिन मनाया जाता है। भारत में राष्ट्रीय महिला दिवस मुख्य रूप से सरोजिनी नायडू की जयंती के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। भारतीय राष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत वर्ष 2014 में की गई थी। सरोजिनी नायडू को उनकी कविताओं के कारण नाइटिंगेल ऑफ इंडिया (Nightingale of India) यानी ‘भारत की कोकिला’ के उपनाम से भी संबोधित किया जाता है। उन्होंने अपने जीवन काल में साहित्य के क्षेत्र में बेहद महत्वपूर्ण योगदान दिया था जिसके कारण उन्हें विश्व भर में प्रसिद्धि हासिल हुई थी। इसके अलावा सरोजिनी नायडू ने अपने जीवन काल में महिलाओं के सम्मान के लिए कई महत्वपूर्ण कार्य भी किए थे।

  • 28 फरवरी – राष्ट्रीय विज्ञान दिवस (National Science Day)

भारत में प्रति वर्ष 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मनाया जाता है। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस को भारत के महान भौतिकी एवं नोबेल पुरस्कार विजेता चंद्रशेखर वेंकट रमन की खोज के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य भारतीय विद्यार्थियों एवं वैज्ञानिकों को विज्ञान के क्षेत्र में प्रोत्साहन देना होता है। सी वी रमन को सन 1930 में प्रकाश प्रकीर्णन के क्षेत्र में कार्य करने हेतु नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया था एवं सन 1954 में उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था।

  • 13 अप्रैल – जलियांवाला बाग हत्याकांड (Jallianwala Bagh Massacre)

जलियांवाला बाग हत्याकांड भारतीय इतिहास की सबसे क्रूर एवं कलंकित घटना मानी जाती है जो 13 अप्रैल 1919 को हुई थी। भारत में 13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग हत्याकांड दिवस के रूप में मनाया जाता है। जलियांवाला बाग हत्याकांड ब्रिटिश सरकार की बर्बरता को दर्शाता है जिसने भारतीय इतिहास को बेहद प्रभावित किया था। 13 अप्रैल 1919 को बैसाखी के पर्व पर ब्रिटिश ब्रिगेडियर जनरल रेजीनॉल्ड डायर द्वारा निहत्थे मासूम लोगों की हत्या की गई थी। इस हत्याकांड में सैकड़ों भारतीय शहीद हो गए थे एवं हजारों की संख्या में लोग घायल हुए थे।

  • 1 मई – राष्ट्रीय मजदूर दिवस (National Labour Day)

भारत में राष्ट्रीय मजदूर दिवस प्रतिवर्ष 1 मई को मनाया जाता है। राष्ट्रीय मजदूर दिवस को मनाए जाने का उद्देश्य निम्न वर्ग के लोगों को प्रोत्साहन देना होता है। राष्ट्रीय मजदूर दिवस को सर्वप्रथम भारत में 1 मई सन 1923 को चेन्नई में मनाया गया था। इसकी पहल भारतीय लेबर किसान पार्टी के द्वारा की गई थी। राष्ट्रीय मजदूर दिवस के माध्यम से देश की सरकार श्रमिकों के कार्य एवं प्रयासों को सफल बनाने का प्रयास करती है। राष्ट्रीय मजदूर दिवस को कामगार दिवस के नाम से भी जाना जाता है।

  • 11 मई – राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस (National Technology Day)

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस को प्रतिवर्ष भारत में 11 मई को मनाया जाता है। राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस को मनाये जाने का मुख्य उद्देश्य भारतीय वैज्ञानिकों को उनकी उपलब्धियों हेतु सम्मान देना होता है। दरअसल, 11 मई सन 1998 को भारत के पोखरण में परमाणु परीक्षण को सफलतापूर्वक अंजाम दिया था जिसके कारण भारत को एक बड़ी तकनीकी सफलता हासिल हुई थी। भारत के वैज्ञानिकों द्वारा किए जाने वाले तकनीकी प्रगति कार्य को ध्यान में रखते हुए तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने प्रतिवर्ष 11 मई को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के रूप में मनाने की सार्वजनिक घोषणा की थी।

  • 15 अगस्त – स्वतंत्रता दिवस (Independence Day)

भारत में प्रति वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में काफी हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। यह एक राष्ट्रीय पर्व है जिसमें भारत के हर नागरिक की बराबर भागीदारी होती है। भारत को 15 अगस्त 1947 में ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता प्राप्त हुई थी जिसके कारण स्वतंत्रता दिवस को मनाया जाता है। 15 अगस्त को भारतीय इतिहास का सबसे महत्वपूर्ण दिन माना जाता है क्योंकि भारत की आजादी के लिए देश के कई नागरिकों ने अपने प्राणों की आहुति दी थी। 15 अगस्त को देश के सभी सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थानों में झंडारोहण करके स्वतंत्रता दिवस को मनाया जाता है। 15 अगस्त भारतीय इतिहास का सबसे महत्वपूर्ण दिन माना जाता है।

  • 29 अगस्त – राष्ट्रीय खेल दिवस (National Sports Day)

राष्ट्रीय खेल दिवस को भारत में प्रत्येक वर्ष 19 अगस्त को भारत के दिग्गज हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यान चंद कुशवाहा की जयंती के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। मेजर ध्यानचंद का जन्म 1905 में हुआ था। मेजर ध्यान चंद हॉकी के महान खिलाड़ी थे जिसके कारण उन्हें हॉकी के जादूगर के नाम से भी जाना जाता है। राष्ट्रीय खेल दिवस हर वर्ष मेजर ध्यान चंद को श्रद्धांजलि अर्पित करने हेतु आयोजित किया जाता है। भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस की शुरुआत सन 2012 में की गई थी। इस दौरान खेल के क्षेत्रों में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने वाले खिलाड़ियों को राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रपति भवन में अलग-अलग खेल पुरस्कारों से सम्मानित किया जाता है।

  • 5 सितंबर – शिक्षक दिवस (Teachers Day)

भारत में 5 सितंबर को प्रतिवर्ष शिक्षक दिवस को भारत के दूसरे राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन की स्मृति के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। इनका जन्म 5 सितंबर 1888 को तमिलनाडु के तिरूमनी गांव में हुआ था। शिक्षक दिवस को मनाया जाने का उद्देश्य विद्यार्थियों में गुरु के प्रति सम्मान को प्रकट करना होता है क्योंकि गुरु का स्थान समाज में सम्मानीय एवं आदरणीय होता है। इसके अलावा शिक्षक दिवस गुरु की महत्ता को दर्शाने का भी एक प्रमुख दिवस माना जाता है। शिक्षक दिवस एक ऐसा भारतीय पर्व है जिसके द्वारा शिक्षक समुदाय के मान-सम्मान को मुख्य रूप से बढ़ावा मिलता है। शिक्षक दिवस विभिन्न देशों में अलग-अलग तिथियों में मनाया जाता है।

  • 14 सितंबर – राष्ट्रीय हिंदी दिवस (National Hindi Day)

भारत में राष्ट्रीय हिंदी दिवस को प्रतिवर्ष 14 सितंबर को मनाया जाता है क्योंकि वर्ष 1949 में संविधान सभा के द्वारा हिंदी भाषा को भारत की राजभाषा बनाने का निर्णय लिया गया था। राजभाषा एक देश की वह भाषा होती है जिसे केंद्र सरकार की आधिकारिक भाषा के रूप में चुना जाता है। हिंदी दिवस को मनाया जाने का निर्णय सर्वप्रथम देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने लिया था। इसके अलावा 14 सितंबर सन 1900 को व्यौहार राजेंद्र सिंह का जन्म हुआ था जिन्होंने हिंदी भाषा को भारत की राजभाषा बनाने के दिशा में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। व्यौहार राजेंद्र सिंह हिंदी के मूर्धन्य साहित्यकार थे जिन्होंने हिंदी भाषा को सर्वप्रथम पूरे विश्व में फैलाया था। माना जाता है कि व्यौहार राजेंद्र सिंह के कारण ही 14 सितंबर 1949 को हिंदी भाषा को भारत की राजभाषा के रूप में स्वीकार किया गया था।

  • 2 अक्टूबर – महात्मा गांधी जयंती (Mahatma Gandhi Jayanti)

महात्मा गांधी जयंती प्रतिवर्ष भारत में 2 अक्टूबर को भारत के राष्ट्रपिता कहे जाने वाले मोहनदास करमचंद गांधी के जन्मदिन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। महात्मा गांधी ने भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी दिलाने के लिए कई महत्वपूर्ण कार्य किए थे जिसके कारण 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी जयंती मनाने का निर्णय लिया गया था। इसके अलावा 2 अक्टूबर को विश्व अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है क्योंकि महात्मा गांधी ने भारत के साथ-साथ पूरे विश्व में भी सत्य एवं अहिंसा के मार्ग को प्रशस्त करने का कार्य किया था। महात्मा गांधी को बापू के नाम से भी संबोधित किया जाता है जिन्होंने भारत की स्वतंत्रता हेतु एक लंबी लड़ाई लड़ी थी। 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी जयंती मनाए जाने का उद्देश्य देश के राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि अर्पित करना होता है।

  • 8 अक्टूबर – राष्ट्रीय वायु सेना दिवस (National Air Force Day)

भारत में राष्ट्रीय वायुसेना दिवस को प्रतिवर्ष 8 अक्टूबर को मनाया जाता है। भारतीय वायु सेना की स्थापना वर्ष 1932 में ब्रिटिश शासन के अंतर्गत हुई थी। भारत की आजादी से पूर्व भारतीय वायु सेना को रॉयल इंडियन एयर फोर्स के नाम से जाना जाता था। माना जाता है कि 8 अक्टूबर को भारतीय वायु सेना को आधिकारिक रूप से स्थापित किया गया था जिसके कारण इस दिन को राष्ट्रीय वायुसेना दिवस मनाया जाता है।

  • 31 अक्टूबर – राष्ट्रीय एकता दिवस (National Unity Day)

राष्ट्रीय एकता दिवस को भारत में प्रति वर्ष 31 अक्टूबर को सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। सरदार वल्लभभाई पटेल ने भारत का राजनीतिक एकीकरण करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। सरदार वल्लभभाई पटेल भारत के पहले उप प्रधानमंत्री एवं गृहमंत्री थे। इन्होंने अपने जीवन काल में लगभग 560 रियासतों को भारतीय संघ में एकीकृत करने में एक अहम भूमिका निभाई थी। सरदार वल्लभ भाई पटेल के प्रयासों को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय एकता दिवस को प्रतिवर्ष बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। भारतीय सरकार द्वारा राष्ट्रीय एकता दिवस की शुरुआत 31 अक्टूबर वर्ष 2014 में की गई थी।

  • 10 नवंबर – राष्ट्रीय परिवहन दिवस (National Transport Day)

भारत में राष्ट्रीय परिवहन दिवस को प्रति वर्ष 10 नवंबर को मनाया जाता है। राष्ट्रीय परिवहन दिवस को मनाया जाने का उद्देश्य लोगों को यातायात नियमों एवं दुर्घटनाओं के प्रति जागरूक करना होता है। इसके अलावा 10 नवंबर को देश में बढ़ रहे प्रदूषण के स्तर को भी कम करने का प्रण लिया जाता है। राष्ट्रीय परिवहन दिवस के माध्यम से लोगों को परिवहन के साधनों में हो रहे सुधारो की भी जानकारी प्रदान की जाती है।

  • 14 नवंबर – बाल दिवस (Children’s Day)

बाल दिवस भारत में प्रतिवर्ष 14 नवंबर को भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। बाल दिवस बच्चों को समर्पित एक राष्ट्रीय पर्व है जिसे प्रतिवर्ष नियमित रूप से मनाया जाता है। माना जाता है कि जवाहरलाल नेहरू को बच्चों से बहुत अधिक लगाव था जिसके कारण बच्चे उन्हें चाचा नेहरू के नाम से पुकारा करते थे। भारत में सर्वप्रथम बाल दिवस को वर्ष 1959 में मनाया गया था। पंडित जवाहरलाल का मानना था कि बच्चे देश का भविष्य होते हैं जिसके लिए उनका विकास करना बेहद अनिवार्य होता है। देशभर के विभिन्न संस्थानों में 14 नवंबर को कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जिससे बच्चों को आगे बढ़ने का प्रोत्साहन मिलता है।

  • 6 दिसंबर – महापरिनिर्वाण दिवस (Mahaparinirvan Diwas)

भारत में महापरिनिर्वाण दिवस को प्रतिवर्ष 6 दिसंबर को डॉ भीमराव अंबेडकर की जयंती के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। डॉक्टर भीमराव अंबेडकर एक अर्थशास्त्री एवं महान राजनीतिज्ञ होने के साथ-साथ एक समाज सुधारक भी थे जिन्होंने भारतीय संविधान के निर्माण में एक महत्वपूर्ण योगदान दिया था। इसी कारण उन्हें ‘भारतीय संविधान के पिता’ के नाम से भी संबोधित किया जाता है। डॉ भीमराव अंबेडकर ने अपने जीवन काल में दलित वर्ग को समाज में समानता दिलाने हेतु कई संघर्ष किए थे जिसके कारण उन्हें सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है। उन्होंने समाजिक छुआछूत, भेदभाव एवं जातिवाद का अंत करने के लिए कई आंदोलन किए थे।

  • 22 दिसंबर – राष्ट्रीय गणित दिवस (National Mathematics Day)

भारत में प्रति वर्ष 22 दिसंबर को राष्ट्रीय गणित दिवस मनाया जाता है। राष्ट्रीय गणित दिवस भारत के महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन के जन्मदिन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। इसकी शुरुआत 26 दिसंबर सन 2012 में की गई थी। हालांकि एस रामानुजन के जन्म दिवस को राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाया जाने की घोषणा 26 फरवरी सन 2012 में ही कर दी गई थी जिसके पश्चात 22 दिसंबर को प्रति वर्ष नियमित रूप से राष्ट्रीय गणित दिवस को मनाया जाता है। माना जाता है कि एस रामानुजन को गणित से बेहद लगाव था जिससे प्रभावित होकर उन्होंने गणित के क्षेत्र में कई महत्वपूर्ण योगदान दिए थे। 22 दिसंबर को प्रतिवर्ष भारत के कई विद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में गणित के विषय की महत्ता को समझाने हेतु विभिन्न प्रकार के शैक्षिक कार्यक्रमों को आयोजित किया जाता है।

  • 23 दिसंबर – राष्ट्रीय किसान दिवस (National Farmers Day)

राष्ट्रीय किसान दिवस को भारत में प्रति वर्ष 23 दिसंबर को मनाया जाता है। राष्ट्रीय किसान दिवस भारत के पांचवें प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के जन्मदिन की स्मृति में मनाया जाता है। इनका जन्म 23 दिसंबर सन 1902 में हुआ था। इन्होंने अपने जीवन काल में किसानों के जीवन को बेहतर बनाने के कई प्रयास किए थे जिस कारण उन्हें किसानों का मसीहा भी कहा जाता है। चौधरी चरण सिंह ने भारतीय किसानों के लिए कई नीतियों का निर्माण किया था जिससे किसानों की सामाजिक एवं आर्थिक स्थिति में सुधार आया था। भारत में राष्ट्रीय किसान दिवस की शुरुआत 23 दिसंबर वर्ष 2001 में की गई थी।

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.

*