चाल और वेग में अंतर - चाल और वेग किसे कहते हैं

चाल और वेग में अंतर – चाल और वेग किसे कहते हैं

चाल और वेग में अंतर ( difference between speed and velocity in hindi ), वेग और चाल में अंतर, चाल किसे कहते हैं ( what is speed in hindi ), चाल के प्रकार, वेग किसे कहते हैं ( what is velocity in hindi ), वेग के प्रकार आदि प्रश्नों के उत्तर यहाँ दिए गए हैं।

चाल किसे कहते हैं ( what is speed in hindi )

जब कोई कण एक निश्चित समय अंतराल में कुछ दूरी तय करता है तो उसे उस कण की चाल कहा जाता है। साधारण शब्दों में कहा जाए तो किसी वस्तु के विस्थापन की दर को चाल कहा जाता है। यह एक अदिश राशि होती है।

चाल के प्रकार

चाल के मुख्य रूप से चार प्रकार होते हैं :-

  • औसत चाल
  • एक समान चाल
  • असमान चाल
  • तत्कालिक चाल

औसत चाल (average speed)

किसी वस्तु द्वारा एक समान समय में तय की गई औसत दूरी को उस वस्तु की औसत चाल कहा जाता है। यह वास्तव में किसी गतिमान वस्तु या पिण्ड द्वारा तय की गई कुल दूरी एवं उस दूरी को पूर्ण करने में लगे समय के अनुपात को वस्तु की औसत चाल कहते हैं। औसत चाल का सूत्र कुल दूरी/कुल समय होता है।

एक समान चाल (uniform speed)

यदि किसी वस्तु या पिण्ड की चाल किसी निश्चित समय में समान रहती है तो उस वस्तु या पिण्ड की चाल को एक समान चाल कहा जाता है। साधारण शब्दों में कहा जाए तो यदि कोई गतिमान वस्तु एक समान समय अंतराल में समान दूरी को तय करती है तो उसे उस वस्तु की एक समान चाल कहा जाता है। किसी वस्तु की एक समान चाल ज्ञात करने के लिए उस वस्तु द्वारा तय की गई दूरी को समय से भाग दिया जाता है। एक समान चाल का सूत्र दूरी/समय होता है।

असमान चाल (uneven speed)

यदि कोई गतिमान वस्तु या पिण्ड एक समान समय के अंतराल में अलग-अलग दूरी तय करता है तो उस वस्तु की इस चाल को असमान चाल कहा जाता है। असमान चाल को परिवर्ती चाल भी कहा जाता है। उदाहरण के रूप में समझा जाए तो यदि कोई वस्तु 10 सेकंड में लगभग 200 मीटर की दूरी तय करती है एवं अगले 10 सेकंड में लगभग 100 मीटर की दूरी तय करती है तो यह उस वस्तु की असमान चाल होती है।

तात्कालिक चाल (instantaneous speed)

यदि कोई गतिमान वस्तु अत्यंत सूक्ष्म समय अंतराल में किसी निश्चित क्षण पर दूरी तय करती है तो उसे उस वस्तु की तत्कालिक चाल कहते हैं। जैसे बस, कार, मोटरसाइकिल, स्कूटर, रेलगाड़ी आदि में लगाए स्पीडोमीटर तात्कालिक चाल को दर्शाते हैं।

वेग किसे कहते हैं ( what is velocity in hindi )

किसी वस्तु या पिण्ड के विस्थापन की दर को या एक निश्चित दिशा में प्रति सेकेंड वस्तु द्वारा तय की गई दूरी को वेग कहा जाता है। साधारण शब्दों में कहा जाए तो किसी वस्तु के विस्थापन के समय में सापेक्ष परिवर्तन की दर उस वस्तु की वेग कहलाती है। वेग एक सदिश राशि है जिसमें परिणाम एवं दिशा दोनों होते हैं। वेग की खोज महान वैज्ञानिक गैलीलियो गैलीली ने की थी। इन्होंने गति को प्रति इकाई समय में तय की गई दूरी के रूप में परिभाषित किया था। गैलीलियो गैलीली के अनुसार समय के सापेक्ष विस्थापन में परिवर्तन की दर को वेग कहा जाता है।

वेग के प्रकार ( Types of velocity in hindi )

वेग के निम्नलिखित प्रकार होते हैं:-

  • औसत वेग
  • एक समान वेग
  • असमान वेग
  • तत्कालिक वेग

औसत वेग (Average Velocity)

किसी निश्चित समय अंतराल के बाद सांद्रता में हुए परिवर्तन को औसत वेग कहा जाता है। यह वास्तव में किसी वस्तु द्वारा किसी समय में तय की गई कुल दूरी एवं उस दूरी को तय करने में लगा कुल समय का अनुपात होता है। औसत वेग की SI इकाई m/s होती है। औसत वेग एक वेक्टर इकाई है।

एक समान वेग (Uniform Velocity)

यदि कोई वस्तु समान समयांतर में सरल रेखा पर चलते हुए एक समान दूरी को तय करती है तो उसे उस वस्तु का एक समान वेग कहा जाता है। साधारण शब्दों में कहा जाए तो जब कोई गतिमान वस्तु किसी निश्चित दिशा में समान समय में समान दूरी को तय करती है तो उस वस्तु के वेग को एक समान वेग कहते हैं।

असमान वेग (Variable Velocity)

यदि कोई वस्तु या पिंड समान समय के अंतर्गत असमान दूरी को तय करता है या उसकी दिशा बदलती है तो उस वस्तु के वेग को असमान वेग कहा जाता है। जैसे सड़क पर चलती हुई कोई बस, कार या मोटरसाइकिल।

तत्कालिक वेग (Instantaneous Velocity)

यदि कोई वस्तु अत्यंत सूक्ष्म समय में अत्यंत सूक्ष्म दूरी को तय करती है तो उसे तत्कालीन वेग के नाम से जाना जाता है। तत्कालिक वेग को तात्क्षणिक वेग के नाम से भी जाना जाता है जिसका SI मात्रक मीटर/सेकंड है। यह सदिश राशि है।

चाल और वेग में अंतर (difference between speed and velocity in hindi)

चाल और वेग में निम्नलिखित अंतर देखे जा सकते हैं:-

  • किसी गतिमान वस्तु या पिण्ड द्वारा एकांत समयान्तराल में तय की गई दूरी को उस वस्तु या पिण्ड की चाल कहते हैं जबकि किसी वस्तु के एकांक समयान्तराल में हुए विस्थापन को उस वस्तु का वेग कहा जाता है।
  • चाल एक अदिश राशि है जब की गति एक सदिश राशि है।
  • चाल दिशाहीन हो सकती है एवं इसमें केवल परिमाण होता है जबकि वेग में परिमाण एवं दिशा दोनों होते हैं।
  • किसी वस्तु की औसत चाल निश्चित होती है जबकि किसी वस्तु का औसत वेग शून्य भी हो सकता है।
  • किसी गतिमान वस्तु की चाल उसके वेग के परिमाण के बराबर या अधिक हो सकती है परंतु किसी वस्तु की चाल उस वस्तु के वेग के परिमाण चाल से अधिक नहीं हो सकती है।

पढ़ें – हार्ड डिस्क या हार्ड डिस्क ड्राइव (HDD) क्या है ? हार्ड डिस्क के प्रकार

3 Comments

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.