करेंट अफेयर्स (25 मार्च – 1 अप्रैल 2017)

1. 25 मार्च : अर्थ आवर मनाया गया।
विस्तार – 
प्रकृति के लिए विश्व वन्यजीव कोष (WWF – World Wildlife Fund) 25 मार्च 2017 को 10वां अर्थ आवर मनाया गया। दुनिया भर में इसका आयोजन हर साल किया जाता है जिसमें इस गृह के प्रति अपनी व्यक्तिगत वचनबद्धता के प्रतीक के रूप में स्थानीय समय 8:30 से 9: 30 बजे तक एक घंटे के लिए गैर-आवश्यक रोशनी बंद करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। यह 2007 में सिडनी, ऑस्ट्रेलिया में शुरू किया गया था।

2. मोबाइल कनेक्शन के लिए आधार अनिवार्य।
विस्तार – आयकर रिटर्न दाखिल करने के लिए और स्थायी खाता संख्या (PAN – Permanent Account N​umber) के लिए आवेदन करने के लिए आधार अनिवार्य बनाने के बाद, अब सरकार ने मोबाइल फोन कनेक्शनों के लिए भी आधार-आधारित ई-केवाईसी अनिवार्य बनाने का कदम उठाया है। दूरसंचार विभाग (DOT – Department of Telecommunications) ने सभी मोबाइल फोन सेवा प्रदाताओं को मौजूदा ग्राहकों, प्रीपेड और पोस्टपेड की पुष्टि करने के लिए निर्देश दिया है, ताकि उनके विशिष्ट आधार पहचान संख्या और बायोमैट्रिक विवरण का उपयोग किया जा सके। आधार-आधारित e-KYC नए सिम कार्ड खरीदने वाले ग्राहकों के लिए भी अनिवार्य होगा।

3. जीएसटी के अंतर्गत CBEC का नाम बदलकर CBIC किया जायेगा।
विस्तार : जीएसटी के कार्यान्वयन के लिए केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड (CBEC- Central Board of Excise & Customs ) का पुनर्गठन किया जाएगा और इसे संसदीय अनुमोदन के बाद केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (CBIC – Central Board of Indirect Taxes & Customs) के रूप में नामित किया जाएगा। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जीएसटी के कार्यान्वयन के लिए सीबीईसी के क्षेत्रीय संरचनाओं के पुनर्गठन को मंजूरी दी है।


4. 26 मार्च को बांग्लादेश(Bangladesh) ने मनाया 46वां स्वतंत्रता दिवस।
विस्तार : 
बांग्लादेश मुक्ति युद्ध 1971 में दक्षिण एशिया में एक क्रांतिकारी स्वतंत्रता युद्ध था, जिसमें बांग्लादेश के आधुनिक राज्य का जन्म हुआ। 26 मार्च को बांग्लादेश अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है। बांग्लादेश के राष्ट्रपति मोहम्मद अब्दुल हमिद और प्रधान मंत्री शेख हसीना ने सावर में आजादी के लिए अपनी ज़िंदगी का त्याग  करने वालों को याद करते हुए राष्ट्रीय स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की।

5. सीमा सुरक्षा बल (BSF) के इतिहास में पहली लड़ाकू महिला अधिकारी (First Woman Combat Officer) बनकर तनुश्री पारिक (Tanushree Pareek) ने इतिहास रचा।
विस्तार: 25 वर्षीया तनुश्री पारिक (Tanushree Pareek) ने 25 मार्च 2017 को देश की सीमाओं की सुरक्षा में संलग्न सर्वप्रमुख बल सीमा सुरक्षा बल (Border Security Force – BSF) के इतिहास में एक नया इतिहास रचा जब वे इस दिन इस बल के 51-वर्ष लम्बे इतिहास में वे पहली लड़ाकू महिला अधिकारी (First Woman Combat Officer) के रूप में शामिल कर ली गईं। टेकनपुर (Tekanpur) स्थित सीमा सुरक्षा बल के कैम्प में आयोजित पासिंग-आउट-परेड में तनुश्री ने 67 प्रशिक्षु अधिकारियों की परेड का नेतृत्व भी किया। इस परेड का निरीक्षण केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने किया। तनुश्री राजस्थान के बीकानेर (Bikaner) की हैं तथा वर्ष 2014 की संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) परीक्षा में उनका चयन हुआ था।

You may also like :

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.

*