गबर सिंह नेगी – विक्टोरिया क्रॉस से सम्मानित

Gabar Singh Negi (Gabbar Singh Negi) was the first person of Uttarakhand state, who awarded by Victoria cross for his bravery in World War I.

Gabbar Singh Negi
Gabbar Singh Negi Smarak

गबर सिंह नेगी

(Gabbar Singh Negi story in Hindi)

जन्म :- 21 अप्रैल 1895
जन्मस्थान :- टिहरी गढ़वाल,  मज्यूड़ गांव में
मृत्यु :- 10 मार्च 1915

गबर सिंह नेगी (गब्बर सिंह नेगी) का जन्म 21 अप्रैल 1895 को उत्तराखंड राज्य के टिहरी जिले के चंबा के पास मज्यूड़ गांव में एक गरीब परिवार में हुआ था। उन्हें बचपन से ही देश के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा था। इसी जज्बे से उन्होंने अक्टूबर 1913 में गढ़वाल रायफल में भर्ती हो गये। भर्ती होने के कुछ ही समय बाद गढ़वाल रायफल के सेनिकों को प्रथम विश्व युद्ध के लिए फ्रांस भेज दिया गया, जहां 1915 में प्रथम विश्व युद्ध के दौरान न्यू शैपल में लड़ते-लड़ते 20 साल की अल्पायु में ही वो शहीद हो गए। मरणोपरांत गबर सिंह को ब्रिटिश सरकार के सबसे बड़े सम्मान विक्टोरिया क्रॉस से उन्हें सम्मानित किया गया। सबसे कम उम्र में विक्टोरिया क्रॉस से सम्मानित होने वाले शहीद गबर सिंह नेगी थे।

Advertisement

उनके मरणोपरांत से 21 अप्रैल को चंबा में स्थित उनके स्मारक पर गढ़वाल राइफल द्वारा रेतलिंग परेड कर उन्हें सलामी दी जाती है। और गढ़वाल राइफल का नाम विश्वभर में रोशन करने वाले वीर गब्बर सिंह नेगी की कुर्बानी को याद करने के लिए हर वर्ष शहीद मेले के रूप में मनाया जाता हैं ।

नोट :- ब्रिटिश सरकार के सबसे बड़े सम्मान विक्टोरिया क्रॉस से गबर सिंह नेगी (Gabar Singh Negi) को सम्मानित किया गया था।

You may also like :

1 Comment

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.

*