उत्तराखंड में चिकित्सा शिक्षा व प्रमुख मेडिकल कॉलेज

उत्तराखंड में चिकित्सा शिक्षा (Medical Education in Uttarakhand)

राज्य में चिकित्सा शिक्षा के विस्तार पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। वर्तमान में राज्य में एलोपैथी, आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक तथा नेचुरोपैथी पद्धति (Allopathic, Ayurvedic, Homeopathic and Naturopathy) में शिक्षा देने के लिए सरकारी एवं निजी क्षेत्र के कई संस्थायें है, कुछ प्रमुख संस्थाएं निम्न प्रकार है:-

AIIMS (All India Institute of Medical Sciences)

1 फरवरी (February) 2004 को केंद्र सरकार ने ऋषिकेश (Rishikesh) में 1800 करोड रुपए की लागत से निर्मित होने वाले अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) (All India Institute of Medical Sciences (AIIMS)) का शिलान्यास किया। इस संस्थान के साथ ही गोपेश्वर (Goepshwar) में एक ट्रोमा सेंटर (Trauma Center) की भी स्थापना की जा रही है।

यह संस्थान दिल्ली (Delhi) के एम्स की एक शाखा होने के बजाए अपने आप में एक पूर्ण संस्थान है। इसमें 35 उच्चस्तरीय आधुनिक चिकित्सा (Modern Medicine) सुविधाओं के अलावा 100 बिस्तरों  (Beds) वाला मेडिकल कॉलेज (Medical college) भी होगा।

सुशीला तिवारी मेमोरियल चिकित्सालय (Sushila Tiwari Memorial Hospital)

हल्द्वानी (नैनीताल) (Haldwani (Nainital)) स्थित इस चिकित्सालय को राज्य सरकार (State government) ने मेडिकल कॉलेज का दर्जा प्रदान किया है। इसमें राज्य का प्रथम पैरा-मेडिकल संस्थान (Para-Medical Institute) बनाया जा रहा है। यह कॉलेज कुमाऊं विश्वविद्यालय (Kumaon University) से संबंधित  है।

Advertisement

मेडिकल विश्वविद्यालय (Medical University)

देहरादून और ऋषिकेश (Dehradun and Rishikesh) के बीच जोलीग्रांट (Joligrant) नामक स्थान पर संत डॉक्टर स्वामी राम (Sant Dr Swami Ram) की स्मृति (Memory) में उनके शिष्यों के द्वारा 1989 में स्थापित किया गया। हिमालयन इंस्टिट्यूट हॉस्पिटल ट्रस्ट (Himalayan Institute Hospital Trust) के तहत ‘हिमालयन इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (Himalayan Institute of Medical Sciences)’ जोकि राज्य का पहला मेडिकल कॉलेज (The state’s first Medical College) है। जिसे  7 जून (June) 2007 को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय (Ministry of Human Resource Development) ने डीम्ड विश्वविद्यालय (Deemed University) का दर्जा प्रदान किया।

वीर चंद्र सिंह गढ़वाली राजकीय मेडिकल कॉलेज (Veer Chandra Singh Garhwali Government Medical College)

7 जुलाई (July) 2008 को मुख्यमंत्री खण्डूरी (Khanduri) ने श्रीनगर में 242 करोड रुपए की लागत से राज्य के प्रथम राजकीय आयुर्विज्ञान शोध संस्थान (First State Medical Research Institute) का लोकार्पण किया। इसमें MBBS की 100 सीटें है। 380 शैय्याओं (Beds) वाला यह कॉलेज विश्व में सबसे कम फीस (The Lowest Fees in The World) (15,000 रु. वार्षिक) पर MBBS की डिग्री देने वाला कॉलेज है।

आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय (Aayurvedic University)

हरिद्वार (Haridwar), स्थित ऋषिकुल (Rishkul)गुरुकुल राजकीय विद्यालयों (Gurukul state schools) को जुलाई (July) 2009 में आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय (Ayurvedic University) बना दिया गया।

प्रमुख मेडिकल कॉलेज :-

  • दून कॉलेज ऑफ़ मेडिकल साइंसेज एंड हॉस्पिटल (Doon College of Medical Sciences and Hospital) – देहरादून (Dehradun)
  • रुड़की कॉलेज ऑफ फार्मेसी (Roorkee College of Pharmacy) – रुड़की (Roorkee)
  • कम्बाइन्ड पी. जी. इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च (Combined P. G. Institute of Medical Science and Research) – देहरादून (Dehradun)
  • देहरादून आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज (Ayurvedic Medical College in Dehradun) – देहरादून (Dehradun)
  • उत्तराखंड आयुर्वेदिक कॉलेज (Uttarakhand Ayurvedic College) – देहरादून (Dehradun)
  • चंदोली होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज (Chandoli Homeopathic Medical College) – रुद्रपुर (उधमसिंह नगर) (Rudrapur (Udham Singh Nagar))
You may also like :

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.

*