टिहरी गढ़वाल

टिहरी गढ़वाल (Tehri Garhwal) अस्तित्व – 01 अगस्त, 1949 क्षेत्रफल – 4085 वर्ग किमी . तहसील – 10 (टिहरी, नरेन्द्र नगर, प्रतापनगर, देवप्रयाग, घनसाली, जाखणीधार, धनोल्टी, कांडीसौड़, गजा, नैनाबाग़) विकासखंड – 10 (टिहरी, चम्बा, प्रतापनगर, जौनपुर, नरेन्द्रनगर, देवप्रयाग, कीर्तिनगर, घनसाली, जाखाणीधार, धौलधार) प्रसिद्ध मन्दिर – श्री रघुनाथ जी, सुरकंडा, सेममुखेम नागराज, रमणा मंदिर, महतकुमारिका, कुंजापुरी, ओनेश्रवर महादेव,… Keep Reading

उधम सिंह नगर

उधम सिंह नगर (Udham Singh Nagar) उपनाम – गोविषाण अस्तित्व –  अक्टूबर 1995 में नैनीताल जिले से अलग हुआ क्षेत्रफल – 2912 वर्ग किमी . तहसील – 8 (काशीपुर, गदरपुर, जसपुर, खटीमा, किच्छा, सितारगंज, बाजपुर, रुद्रपुर विकासखंड – 7 (जसपुर, खटीमा, सितारगंज, काशीपुर, रुद्रपुर, बाजपुर, गदरपुर) प्रसिध्द मन्दिर – चैतीमंदिर, नानकमत्ता, अटरिया मंदिर प्रसिध्द मेले – चैतीमेला (काशीपुर), शहीद उधमसिंह मेला… Keep Reading


उत्तरकाशी

उत्तरकाशी (Uttarkashi) पुराना नाम – बाड़ाहाट उपनाम – उत्तर का काशी अस्तित्व – 24 फ़रवरी 1960 क्षेत्रफल – 8016 वर्ग किमी . तहसील – 6 (भटवाड़ी, डुंडा, पुरोला, मोरी, चिन्यालीसौड़, बड़कोट) विकासखंड – 6 (भटवाड़ी, डुंडा, पुरोला, मोरी, चिन्यालीसौड़, नौगाव ) प्रसिद्ध मन्दिर -गंगोत्र, यमुनोत्री, विश्वनाथ मंदिर, शक्ति पीठ, कुटेटी देवी, रेनुका देवी, भैरव देवता का मन्दिर, शनि मंदिर, पोखू… Keep Reading

नैनीताल

नैनीताल (Nainital) उपनाम – सरोवर नगरी अस्तित्व – 1841 ई. में  “पी. बैरन” द्वारा खोजा गया क्षेत्रफल – 3853 वर्ग किमी . तहसील – 8 (नैनीताल, हल्द्वानी, रामनगर, धारी, कोश्याकुटौली, बेतालघाट, लालकुँआ, कालाढूंगी विकासखंड – 8 (हल्द्वानी, भीमताल, रामगढ, कोटाबाग, रामनगर, बेतालघाट, ओखलकांडा, धारी) प्रसिध्द मन्दिर – नैनादेवी मंदिर, हनुमानगढ़ी, मुक्तेश्वर, गर्जिया देवी प्रसिध्द मेले -नन्दादेवी, ग्रामीण हिमालय… Keep Reading

चम्पावत

चम्पावत (Champawat) उपनाम – चम्पावती (कुमुकाली) अस्तित्व – 15 सितम्बर, 1997 क्षेत्रफल – 1955.26 वर्ग किमी . तहसील –  5 (चम्पावत, पाटी, पूर्णागिरी, लोहाघाट, बाराकोट) विकासखंड – 4 (चम्पावत, लोहाघाट, बाराकोट, पाटी) प्रसिद्ध मन्दिर –  हिंग्लादेवी, घटोक्च मंदिर, लड़ीघुरा, मानेश्वर, पूर्णागिरी, ग्वाल देवता, दुर्गा, बालेश्वर, कान्तेश्वर,आदित्य मंदिर, नागनाथ मंदिर प्रसिद्ध मेले –  पूर्णागिरी मेला, देवी महोत्सव, गोराअटठारी, सूर्याषष्टी,  द्विपमाहोत्सव, देवीधूरा… Keep Reading

बागेश्वर

बागेश्वर (Bageshwar) बागेश्वर उत्तराखण्ड राज्य का एक जिला है। 1997 में अल्मोड़ा जिले का कुछ हिस्सा अलग करके बागेश्वर जिले की स्थापना हुई। यह नगर प्रसिद्ध नदियां पूर्वी गंगा और कोशी नदी के तट पर बसा है। आकर्षक प्राकृतिक सुंदरता और लौकिक गाथाओं के कारण बागेश्वर काफी प्रसिद्ध नगर है। उपनाम –  व्याघ्रेश्वर, नीलगिरी, उत्तर का वाराणसी, भारत… Keep Reading

अल्मोड़ा

उपनाम - विभाण्डेश्वर, बाल मिठाई का घर, ताम्रनगरी, मंदिरों की नगरी ‘द्वाराहाट’ अस्तित्व - 1839 ई. क्षेत्रफल - 3090 वर्ग किमी . तहसील - 11 (अल्मोड़ा, भिकियासैण, रानीखेत, धौलाछिना, स्यालदे, जैती, भनौली, द्वाराहाट, सोमेश्वर, चौखुटिया, सल्ट) Keep Reading

पिथौरागढ़

पुराना नाम - सोहरा घाटी उपनाम - छोटा कश्मीर अस्तित्व - 24 फ़रवरी 1960 क्षेत्रफल - 7110 वर्ग किमी . तहसील - 10 (पिथौरागढ़, धारचूला, मुनस्यारी, डीडीहाट, कनालीछीना, बेरीनाग, बंगापनी, गणाई-गंगोली, देवलथल, गंगोलीहाट) Keep Reading

उत्तराखंड में कृषि उत्पादन एवं खेती के प्रकार

उत्तराखंड एक कृषि प्रधान राज्य हैं, यहां की 69.45% आबादी गाँव में निवास करती हैं, जोकि कृषि (Agriculture), जड़ी-बूटी (Herb) व वन संपदा (Forest Estates) पर निर्भर (Dependent) है। Keep Reading

उत्तराखंड में पायी जाने वाली खनिज संपदा व खनिज पदार्थ

उत्तराखंड (Uttarakhand) में अन्य राज्यों की अपेक्षा खनिज संसाधनों का अभाव है, लेकिन बहुत कम मात्रा में खनिज पदार्थों (Minerals) की उपस्थिति है। राज्य के वन क्षेत्र में स्थित खदानों से खनिजों का खनन Keep Reading