उत्तराखंड में चिकित्सा शिक्षा व प्रमुख मेडिकल कॉलेज

उत्तराखंड में चिकित्सा शिक्षा (Medical Education in Uttarakhand) राज्य में चिकित्सा शिक्षा के विस्तार पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। वर्तमान में राज्य में एलोपैथी, आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक तथा नेचुरोपैथी पद्धति (Allopathic, Ayurvedic, Homeopathic and Naturopathy) में शिक्षा देने के लिए सरकारी एवं निजी क्षेत्र के कई संस्थायें है, कुछ प्रमुख संस्थाएं निम्न प्रकार है:-… Keep Reading

उत्तराखंड के उच्च शिक्षा संस्थान एवं विश्वविद्यालय

उत्तराखंड के उच्च शिक्षा संस्थान एवं विश्वविद्यालय  (Higher education institutions and universities of Uttarakhand) राज्य गठन से पूर्व उच्च शिक्षा (Higher Education) के लिए यहां सभी श्रेणियों (Categories) के कुल 6 विश्वविद्यालय (University) तथा इससे सम्बद्ध 100 से अधिक स्नातक एवं स्नातकोत्तर महाविद्यालय (Undergraduate and Graduate College) तथा अन्य संस्थान (Other Institutions) थे। राज्य में ज्यादातर… Keep Reading


उत्तराखंड में प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा व्यवस्था

उत्तराखंड में शिक्षा व्यवस्था (Education system in Uttarakhand) नई व्यवस्था के तहत प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा को देखने के लिए ब्लॉक स्तर (Block Level) पर बेसिक शिक्षा अधिकारी (Basic Education Officer) एवं माध्यमिक शिक्षा अधिकारी (Secondary Education Officer) की व्यवस्था है। जिला स्तर (District Level) पर एक जिला शिक्षा अधिकारी (District Education Officer) और उसके अधीन… Keep Reading

उत्तराखंड में शिक्षा व्यवस्था

उत्तराखंड में शिक्षा व्यवस्था (Education System in Uttarakhand) हिमालय का यह भू-भाग (Terrain) प्राचीन काल से ही आश्रम पद्धति (Ashram System) शिक्षा के लिए प्रसिद्ध है। यहां के मंदिरों (Temples), आश्रमों (Ashrams) तथा गुफाश्रयों (Cave) में शिक्षा ग्रहण करने के लिए दूर-दूर से विद्यार्थी आते रहे है। बद्रिकाश्रम (Bdrikashram) और कण्वाश्रम (Knwasrm) शिक्षा के दो… Keep Reading

उत्तराखंड में ऊर्जा के स्रोत व विद्युत परियोजनाएं

उत्तराखंड में खनिज (Mineral), कोयला (Coal), पेट्रोलियम (Petroleum) आदि की कमी होते हुए भी जल का अपार भंडार (Boundless Store) है, जिस कारण जल विद्युत (Hydro-power) की व्यापक संभावनाएं है। Keep Reading

उत्तराखंड में परिवहन के साधन

Transportation ways & modes available in Uttarakhand state राज्य में प्रयुक्त परिवहन साधनो का संक्षिप्त वर्णन अधोलिखित है :- सड़क तंत्र (Road network) जटिल भौगोलिक संरचना (Complex Geological Structure) के कारण लगभग 40% भू-भाग (Terrain) पर अभी भी सड़कों का विकास न होने के बावजूद राज्य के कुल यातायात में सड़क यातायात का 85% से… Keep Reading

उत्तराखंड के प्रमुख अनुसूचित जनजातियों का संछिप्त परिचय

Major Scheduled Tribes in Uttarakhand राज्य में प्रमुख अनुसूचित जनजातियों (Tribes) की शारीरिक संरचना (Body Composition), उत्पत्ति (Origin), निवास स्थल (Residence), व्यवसाय (Business) तथा सामाजिक व्यवस्था (Social System) आदि से संबंधित संक्षिप्त परिचय निम्नलिखित है :- जौनसारी (Jaunsari) जौनसारी राज्य का सबसे बड़ा जनजातीय समुदाय होने के साथ-साथ गढ़वाल क्षेत्र का भी सबसे बड़ा जनजातीय… Keep Reading

उत्तराखंड की अनुसूचित जनजाति

Scheduled Tribes of Uttarakhand  अनुसूचित जनजाति (Tribes) शब्द सबसे पहले भारत के संविधान में इस्तेमाल हुआ था। अनुच्छेद 366 (25) में अनुसूचित जनजातियों को “ऐसी जनजातियां (Tribes) या जनजाति समुदाय या इनमें सम्मिलित जनजाति समुदाय के भाग या समूहों को संविधान के प्रयोजनों हेतु अनुच्छेद 342 के अधीन अनुसूचित जनजातियां माना गया है” पारिभाषित किया… Keep Reading

उत्तराखंड की अनुसूचित जातियां

Uttarakhand Scheduled Castes उत्तर प्रदेश सरकार ने 18 सितम्बर (September) 1976 को उन्हीं 66 जातियों को अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) की श्रेणी में सम्मिलित किया, जिन्हे संविधान में रखा गया था। अग्रणी संसोधन 2000 में उत्तराखण्ड के लिए भी सूची जारी की गई, जिसमें ‘रावत (Rawat)’, जो कि 61वें क्रम में थे को हटा दिया… Keep Reading

उत्तराखंड की अनुसूचित जाति एवं जनजातियां

Scheduled Castes and Tribes of Uttarakhand जनगणना (Census) 2011 के अंतिम आकड़ों (Data) के अनुसार राज्य की कुल जनसंख्या 1,00,86,292 थी। इसमें संयुक्त रूप (Jointly) से अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) व जनजाति (Tribe) लोगो की जनसंख्या (Population) 21,84,419 है, जो कि उत्तराखंड राज्य के कुल जनसंख्या के 21.65% के बराबर है। अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) व जनजाति… Keep Reading

1 31 32 33 34 35 38