पंडित नैनसिंह रावत – भारतीय वैज्ञानिक

पंडित नैन सिंह रावत की जीवनी : पंडित नैन सिंह रावत (Pt. Nain Singh Rawat) का जन्म उत्तराखण्ड राज्य के पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी तहसील के मिलम गांव में 21 अक्टूबर 1830 को हुआ था। नैन सिंह रावत के पिता का नाम अमर सिंह था। जन्म 21अक्टूबर, 1830 मृत्यु 1 फरवरी, 1895 जन्मस्थान मिलम गांव, पिथौरागढ़… Keep Reading

न्याय के देवता ‘गोलू देवता’ की कहानी

गोलू देवता जिन्हें न्याय का देवता भी माना जाता है वह अपने न्यायप्रिय स्वभाव एवं सभी की कामनाएं पूर्ण करने के कारण विश्व प्रसिद्ध हैं। ऐसी लोक कथा है की गोलू देवता, कत्यूरी राजवंश के राजा झालुराई की इकलौती संतान थे। Keep Reading

बैरिस्टर मुकुन्दी लाल – सामाजिक कार्यकर्ता, वकील

बैरिस्टर मुकुन्दी लाल (Barrister Mukundi Lal) का जन्म 14 अक्टूबर, 1885 में चमोली जिले के पाटली गांव में हुआ था। उनकी प्रारम्भिक शिक्षा चोपड़ा (पौड़ी) के मिशन हाईस्कूल में हुई, उन्होंने हाईस्कूल और इण्टरमीडियेट की परीक्षा रैमजे इंटर कालेज, अल्मोड़ा से प्राप्त की थी। Keep Reading

गोविंद बल्लभ पंत – भारत रत्न (हिम पुत्र)

गोविन्द बल्लभ पंत की जीवनी : गोविन्द बल्लभ पंत का जन्म 10 सितम्बर, 1887 को अल्मोड़ा के खूंट (धामस) नामक गाँव में ब्राह्मण परिवार में हुआ था। गोविन्द बल्लभ पंत के पिता का नाम मनोरथ पंत व माँ का नाम गोविंदी बाई पंत था। गोविंद बल्लभ पंत जो भारत रत्न एवं हिम पुत्र नामों से भी जाना जाता है। छोटी सी… Keep Reading

वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली – पेशावर कांड के नायक

चन्द्र सिंह भंडारी 'गढ़वाली' (Veer Chandra Singh Garhwali) का जन्म 25 दिसम्बर 1891 में गढ़वाल के मासी ग्राम में हुआ था। चन्द्र सिंह के पिता का नाम जलौथ सिंह भंडारी था। Keep Reading

इंद्रमणि बडोनी – उत्तराखंड के गाँधी (सामाजिक कार्यकर्ता)

इन्द्रमणि बडोनी (Indramani Badoni) का जन्म 24 दिसम्बर 1925 को तत्कालीन टिहरी रियासत के जखोली ब्लॉक के अखोड़ी गाँव में हुआ था। उनके पिता का नाम पं. सुरेशानन्द बडोनी था। Keep Reading

बद्री दत्त पाण्डे – कुमाऊँ केसरी

बद्री दत्त पांडे (Badri Dutt Pandey) का जन्म 15 फरवरी 1882 को कनखल हरिद्वार में ही हुआ , लेकिन सात वर्ष की आयु में उनके माता-पिता का निधन हो गया। बद्री दत्त पांडे मूल रूप से अल्मोड़ा के रहने वाले थे। Keep Reading

गोल्डन ग्लोब पुरस्कार 2017

हर साल हॉलीवुड फॉरेन प्रेस एसोसिएशन ( Hollywood Foreign Press Association (HFPA)) मनोरंजन जगत में विशेष उपलब्धियों के लिए देशी-विदेशी कलाकारों, फिल्मों को गोल्डेन ग्लोब पुरस्कार से सम्मानित करता है। Keep Reading

कालू महरा – उत्तराखंड के प्रथम स्वतंत्रता सेनानी

कालू सिंह महरा (Kalu Singh Mahara) का जन्म चम्पावत (Champawat) जिले के लोहाघाट के समीप थुआमहरा गांव में 1831 में हुआ था। कालू सिंह महरा ने अपने युवा अवस्था में ही अंग्रेजों के खिलाफ जंग शुरू कर दी थी। इसके पीछे मुख्य कारण रूहेला के नबाव खानबहादुर खान, Keep Reading

हरगोविंद पन्त – उत्तराखंड के समाज सुधारक व स्वतंत्रता सेनानी

पंडित हरगोविंद पन्त (Pandit Hargovind Pant) का जन्म 19 मई 1885 को चितई गाँव अल्मोड़ा (Almora, Uttarakhand) में हुआ था। इनके माता का नाम आनंदी देवी व पिता श्री धर्मानंद पन्त थे। इनकी प्रारंभिक शिक्षा गाँव के ही विद्यालय में हुई तथा माध्यमिक शिक्षा अल्मोड़ा के इन्टर कॉलेज से हुई। Keep Reading

1 92 93 94 95 96 103