UBTER – समूह ग पोस्ट : जूनियर सहायक सिविल हल प्रश्नपत्र 2015 (पोस्ट कोड 72)

61. नवीनतम IS : 456 के अनुसार उच्च सामथ्र्य वाली कक्रीट का गेड प्रारम्भ होता है
(A) M 55
(B) M 60
(C) M 65
(D) M 70

62. ली चैटेलियर उपकरण ज्ञात करने के लिए प्रयोग किया जाता है
(A) स्लम्प प्रयोग सीमेन्ट-कक्रीट
(B) साउन्डनेस प्रयोग
(C) जमावल काल
(D) वी-वी प्रयोग

63. आई एस 456 के अनुसार 50 किग्रा सीमेन्ट में सूखा मिलावे (महीन मिलावा + मोटा मिलावा) का M 20 कक्रीट के लिए भार होता है-
(A) 250 किग्रा.
(B) 500 किग्रा.
(C) 480 किग्रा.
(D) 625 किग्रा.

64. एक 6 मी. से अधिक लम्बाई की धरन से धुन्नी (prop) हटाई जा सकती है
(A) 7 दिन बाद
(B) 14 दिन बाद
(C) 21 दिन बाद
(D) 28 दिन बाद

65. एक 10 मी. तक की सतत धरन में विस्थापन जाँचने को लिए लम्बाई एवं गहराई का अनुपात होगा–
(A) 7
(B) 20
(C) 26
(D) 28

66. किसी धरन में न्यूनतम तनन प्रबलन का मान निम्न से कम नहीं होना चाहिए
(A) 0.80 bd/fy
(B) 0.85 bd/fy
(C) 0.87 bd/fy
(Ꭰ) 0.40 bd/fy
जहाँ b = चौड़ाई, d=प्रभावी गहराई, f= अभिलाक्षणिक सामथ्र्य

67. चित्र में प्रतिबल ब्लॉक पैरा मीटर दिखाया गया है
samuh g
fCK= Characteristic compressive strength of Concrete.
आयताकार में निम्न मान होगा-
(A) 0.87 fCKxu
(B) 0.04 fCK xu
(C) 0.85 fCKxu
(D) 0.36 fCK xu

68. किसी प्लेट गर्डर में वैब पर स्थानीय प्रबलन कर्तन एवं धारण में लगाया जाता है उसे कहते हैं-
(A) धारण दृष्णकारी
(B) टोरसन दृष्णकारी
(C) त्रिर्यक दृष्णकारी
(D) तनन दृष्णकारी

69. सर्वाधिक मितव्ययी स्तम्भ काट होगी
(A) आयताकार
(B) ठोस
(C) ट्यूबलर
(D) कोणाकार

70. एक आयताकार काट में माध्य कर्तन एवं अधिकतम कर्तन प्रतिबल होगा
(A) ⅔
(B) 3/2
(C) ⅓
(D) ½

71. वैब कृपलिंग ऐसे बिन्दु पर होती है जहाँ
(A) अधिकतम विस्थापन
(B) कर्तन बल अधिकतम
(C) संकेन्द्रित भार लगने पर
(D) नमन आघूर्ण अधिकतम

72. वैब प्लेट दृणकारी रहित कहलाती है यदि शुद्ध गहरायी एवं मोटाई का अनुपात कम हो–
(A) 35 से
(B) 55 से
(C) 65 से
(D) 85 से

73. साधारण स्टील बीम जिसकी लम्बाई Lएवं संकोन्द्रित भार P है। केन्द्रीय विस्थापन होगा
(A) PL4/48EI
(B) PL3/48EI
(C) PL2/8EI
(D) PL3/8EI

74. साधारण पटल पर अगम्य बिन्दुओं का आलेखन किया जाता है
(A) विकिरण द्वारा
(B) मालारेखन द्वारा
(C) प्रतिच्छेदन द्वारा
(D) रीसैक्सन द्वारा

75. किसी रेखा का पूर्णवृत्त दिकमान 270° है उसका समानीय दिकमान होगा
(A) N 90° W
(B) 90° W
(C) S 90° W
(D) W 90°

76. जेम्सवाट द्वारा स्टेडिया टेकोमीटरी की खोज किस वर्ष में की गयी थी
(A) 1570
(B) 1670
(C) 1770
(D) 1870

77. 100 मी त्रिज्या के वक्र का नार्मल कॉर्ड 10 मी. है रैंकिन विस्थापन कोण होगा
(Α) 1° 45’95
(B) 1°25’95
(C) 1°35’95
(D) उपरोक्त में से कोई नहीं

78. अंतर्राष्ट्रीय डेट रेखा स्थित होती है
(A) 180° लौंगीट्यूड पर
(B) ग्रीनविच मेरीडियन पर
(C) मानक मेरीडियन पर
(D) उपरोक्त में से कोई नहीं

79. एक ठोस गोले का जड़त्व आघूर्ण होगा
(A) 2/3 Mr2
(B) 1/3 Mr2
(C) Mr2
(D) उपरोक्त में कोई नहीं
(जहाँ M = द्रव्यमान, r = त्रिज्या)

80. किसी गसैट प्लेट को जोड़ने के लिए कम से कम कितने रिविट की आवश्यकता होती है
(A) 2
(B) 4
(C) 6
(D) 8

2 Comments

  1. 13. उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम कब लागू किया गाय-
    (A) 15 जनवरी 1987
    (B) 15 फरवरी 1987
    (C) 15 मार्च 1987
    (D) 15 अप्रैल 1987

    ans–15 मार्च 1962 को अमेरिकी कांग्रेस में तत्कालीन राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी द्वारा उपभोक्ता संरक्षण पर पेश विधेयक को अनुमोदित किया था। इसी कारण 15 मार्च को अंतरराष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस के रूप में मनाया जाता है

    • उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम,1986 –
      संयुक्त राष्ट्र ने अप्रैल, 1985 को उपभोक्ता संरक्षण के लिए अपना दिशानिर्देश संबंधी एक प्रस्ताव पारित किया। भारत ने इस प्रस्ताव के हस्ताक्षरकर्ता देश के तौर पर इसके दायित्व को पूरा करने के लिए उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1986 बनाया। संसद ने दिसंबर, 1986 को यह कानून बनाया जो 15 अप्रैल, 1987 से लागू हो गया। इस कानून का मुख्य उद्देश्य उपभोक्ताओं के हितों को बेहतर सुरक्षा प्रदान करना है। इसके तहत उपभोक्ता विवादों के निवारण के लिए उपभोक्ता परिषदों और अन्य प्राधिकरणों की स्थापना का प्रावधान है।
      अधिक जानकारी के लिए पूर्ण आर्टिकल पढ़ें – http://pib.nic.in/newsite/hindifeature.aspx?relid=4690

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.

*