UPPSC PCS Prelims Question Paper 12 June 2022 (Paper 2) - Answer Key

UPPSC PCS Prelims Question Paper 12 June 2022 (Paper 2) – Official Answer Key

UPPSC PCS Prelims Question Paper 12 June 2022 (Paper 2) – Official Answer Key : UPPSC PCS Prelims Question Paper 12 June 2022 (Paper 2 CSAT) Answer Key. UP PCS Pre CSAT 12 June 2022 exam paper with answer key. UP PCS Pre exam 2022 was conducted on 12 June 2022. UPPSC PCS Prelims Question Paper 2022 first paper (CSAT) was conducted between 9:30 to 11:30 AM and second Paper (CSAT) conducted today between 2:30 to 4:30 PM. UPPSC PCS Prelims exam 12 June 2022 (Paper 1) Answer shown as per official answer key issued by UPPSC on 16 June 2022. Download Answer key.

Exam Name :- UPPSC PCS Prelims 2022
Paper :- Paper 2 (GS 2 – CSAT)
Exam Organiser :- UPPSC (Uttar Pradesh Public Service Commission)
Exam Date :- 12/06/2022
Exam Time :- 2:30 to 4:30 PM
Total Question :- 100
See Paper 1 – Click Here

UPPSC PCS Prelims Question Paper 2022 (Paper 2 – CSAT)

1. निम्नलिखित में शुद्ध शब्द है

(a) लब्धप्रतिष्ठत
(b) लुब्धप्रतिष्ठ
(c) लब्धप्रतिष्ठ
(d) लब्धपृप्तिष्ठ

Show Answer

Answer – c

Hide Answer

2. निम्नलिखित में से अविकारी शब्द नहीं है
(a) क्रियाविशेषण
(b) सर्वनाम
(c) सम्बन्धसूचक
(d) समुच्चयबोधक

Show Answer

Answer – b

Hide Answer

3. अनेकार्थी शब्द ‘पतंग’ का इनमें से एक अर्थ नहीं है
(a) बादल
(b) नाव
(c) चंग
(d) पक्षी

Show Answer

Answer – a

Hide Answer

4. निम्नलिखित में तत्सम शब्द है
(a) आम
(b) काष्ठ
(c) हाथ
(d) दूध

Show Answer

Answer – b

Hide Answer

5. ‘जिसका उत्तर देकर खण्डन किया गया हो ।’ इस वाक्यांश के लिए एक शब्द है

(a) प्रत्युत्तर
(b) प्रत्युच्चार
(c) विवृत्ति
(d) प्रत्युक्त

Show Answer

Answer – d

Hide Answer

6. निम्नलिखित वाक्यों में से एक शुद्ध वाक्य है
(a) वह सातवें कक्षा में पढ़ता है ।
(b) सरयू नदी का पाट बहुत लम्बा है ।
(c) जो लोग बाहर जाना चाहते हैं, वह जा सकते हैं ।
(d) कृपया एक गिलास पानी दीजिए ।

Show Answer

Answer – d

Hide Answer

7. इनमें से मुहावरे तथा उसके अर्थ को सुमेल कीजिए तथा सही विकल्प का चयन कीजिए ।
मुहावरा – अर्थ
क) छाती लगाना अ) प्रसन्नता से फूले न समाना ।
ख) छाती पर साँप लोटना ब) बहुत अधिक दुःख या वेदना होना ।
ग) छाती उमड़ना स) ईर्ष्या के कारण व्यथित होना ।
घ) छाती फटना द) आलिंगन करना ।
कूट :
(a) क-द, ख-अ, ग-ब, घ-स
(b) क-अ, ख-स, ग-द, घ-ब
(c) क-द, ख-स, ग-अ, घ-ब
(d) क-ब, ख-द, ग-अ, घ-स

Show Answer

Answer – c

Hide Answer

8. निम्नलिखित शब्दों में प्रेरणार्थक क्रिया है
(a) चलना
(b) दिलवाना
(c) जीना
(d) लिखना

Show Answer

Answer – b

Hide Answer

9. आदर्शिका का तद्भव शब्द है
(a) आँच
(b) आरसी
(c) आदर्श
(d) अदरक

Show Answer

Answer – b

Hide Answer

10. निम्नलिखित में कौन-सा वर्ण तालव्य नहीं है ?
(a) च
(b) झ
(c) क
(d) छ

Show Answer

Answer – c

Hide Answer

11. इनमें से ‘अरण्य’ शब्द का पर्यायवाची शब्द है
(a) शस्य
(b) कुलीन
(c) कांतार
(d) आभारी

Show Answer

Answer – c

Hide Answer

12. निम्नलिखित में से एक शब्द की वर्तनी में हलन्त-सम्बधिं अशुद्धि है, वह शब्द है
(a) श्रीमान्
(b) परिषद्
(c) सम्राट
(d) श्रीयुत्

Show Answer

Answer – d

Hide Answer

13. इसमें से ‘किन्नर’ का सन्धि-विच्छेद है ।
(a) किम् + नर
(b) किन्न् + अर
(c) किन् + नर
(d) कित् + नर

Show Answer

Answer – a

Hide Answer

14. पश्चिमी हिन्दी का विकास किस अपभ्रंश से हुआ है ?
(a) पैशाची
(b) मागधी
(c) ब्राचड़
(d) शौरसेनी

Show Answer

Answer – d

Hide Answer

15. तत्सम-तद्भव शब्दों का कौन-सा युग्म असंगत है ?
(a) छत्र – छत
(b) चैत्र – चैत
(c) चक्र – चक्का
(d) पत्र – पर्ण

Show Answer

Answer – d

Hide Answer

प्रश्न संख्या 16 से 20 के लिए : अधोलिखित गद्यांश को ध्यान से पढ़िए तथा प्रश्न संख्या 16 से 20 के उत्तर इस गद्यांश के आधार पर दीजिए :
हमारा जीवन पाखंडमय बन गया है और हम इसके बिना रह नहीं सकते हैं । अपने सार्वजनिक जीवन अथवा निजी जीवन में कहीं भी देखें हम एक दूसरे को छलने की कला का खुलकर उपयोग करते है, इसके बावजूद यह विश्वास करते हैं कि हम ऐसा कुछ भी नहीं कर रहें हैं । हम इस प्रकार की भाषा का प्रयोग करते हैं जिसकी उस अवसर पर कोई आवश्यकता नहीं होती । हम किसी भी बात को यह जानते हुए कि वह सही अथवा सत्य नहीं है लेकिन उसके प्रति निष्ठा या विश्वास इस तरह प्रकट करते हैं जैसे हमारे लिए वही एक मात्र सत्य है । हम सब इसलिए सरलता से कर लेते हैं क्योंकि आज पाखंड एवं दिखावा हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग बन गया है । आज हम में से अधिकांश लोगों की स्थिति ‘मुंह में कुछ और मन में कुछ और’ वाली बन गयी है।

16. यह जानते हुए कि बात गलत है, हम उसके प्रति निष्ठा क्यों प्रकट करते हैं क्योंकि
(a) हम दिखावा करना चाहते हैं
(b) पाखण्ड और दिखावा हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन गया है
(c) दूसरों को छलना चाहते हैं
(d) असत्य को सत्य में बदलना चाहते हैं

Show Answer

Answer – d

Hide Answer

17. गद्यांश का उपयुक्त शीर्षक है
(a) पाखंड आधुनिक जीवन का सत्य
(b) निष्ठा एवं विश्वास
(c) सार्वजनिक जीवन
(d) दिखावा

Show Answer

Answer – a

Hide Answer

18. ‘मुंह में राम बगल में छुरी’ इसका अर्थ इनमें से किस वाक्य से पता चलता है ?
(a) हमारा जीवन पाखण्डमय बन गया है और हम इसके बिना नहीं रह सकते हैं
(b) छलने की कला का खुलकर उपयोग करते हैं
(c) हम इस प्रकार की भाषा का प्रयोग करते हैं जिसकी इस अवसर पर कोई आवश्यकता नहीं होती
(d) मुंह में कुछ और मन में कुछ और

Show Answer

Answer – d

Hide Answer

19. ‘छलने की कला का’ हम किस प्रकार उपयोग करते हैं ?
(a) खुलकर
(b) सरलता से
(c) आवश्यकतानुसार
(d) पूरी निष्ठा से

Show Answer

Answer – a

Hide Answer

20. हमने जीवन का अभिन्न अंग किसे बना लिया है ?
(a) भाषा को
(b) सरलता को
(c) पाखंड और दिखावे को
(d) निष्ठा एवं विश्वास को

Show Answer

Answer – c

Hide Answer

1 Comment

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.