VOIP क्या है, VOIP कैसे काम करता है, VOIP के फायदे और नुकसान

VOIP क्या है, VOIP कैसे काम करता है, VOIP के फायदे और नुकसान

VOIP क्या है : VOIP का पूरा नाम ‘Voice Over Internet Protocol’ होता है जो एक बहुत ही प्रचलित आईपी टेलीफोन इम्प्लीमेंटेशन है यह केवल वॉइस कम्युनिकेशन का समर्थन करती है। VOIP एक उन्नत तकनीक है जो व्यवसायों और कर्मचारियों को पारंपरिक फोन लाइनों के साथ अधिक प्रभावी तरीके से कम्युनिकेशन करने की अनुमति देता है इसलिए इस तकनीक को ‘आईपी टेलीफोनी’ के रूप में भी जाना जाता है।

VOIP हमारी आवाज को सूचना के पैकेट में परिवर्तित कर देता है जिसे इंटरनेट पर प्रसारित किया जा सकता है। इसे VOIP कहा जाता है क्योंकि इंटरनेट विशेष प्रोटोकॉल TCP या IP (Transmission Control Protocol/Internet Protocol) का उपयोग करता है। VOIP हमको पारम्परिक सार्वजानिक स्विच किये गए नेटवर्क का उपयोग करने के बजाए इंटरनेट पर अपने फोन सिस्टम को ऑपरेट करने की अनुमति देता है।

VOIP विभिन्न फोन व्यवसायों को एक नियमित फोन सेवा पर कई प्रकार के लाभ प्रदान कर सकते हैं इसके माध्यम से मासिक लागतों को कम किया जा सकता है। VOIP कंप्यूटर और इंटरनेट के साथ किसी भी स्थान से कॉल करने की अनुमति देते हैं। VOIP की तेज संचार की तकनीक के कारण यह संचार का एक बहुत अच्छा माध्यम बन गया है।

VOIP (Voice Over Internet Protocol) की विशेषताएं –

पारंपरिक फोन प्रणाली के साथ अतिरिक्त शुल्क खर्च करने वाली विशेषताएं अक्सर एक VOIP फोन प्रणाली के साथ मुफ्त में आती हैं। इसके अलावा VOIP की बहुत सी विशेषताएं उपलब्ध है जो निम्नलिखित हैं –

  • Voice mail
  • Conference Calling
  • Caller ID
  • Call Forwarding
  • Unlimited Long Distance
  • Repeat Dialling

VOIP कैसे काम करता है ?

VOIP एनालॉग वॉइस सिग्नल्स को डिजिटल डाटा में परिवर्तित कर देता है इसके माध्यम से हम रियल टाइम टू वे कम्युनिकेशन कर सकते हैं। VOIP से हम फ्री में किसी को भी कॉल कर सकते हैं। VOIP का सबसे अच्छा उदाहरण WhatsApp calling है जिसमे हम बिना पैसे दिए इंटरनेट की मदद से कॉल कर सकते है।

VOIP (Voice Over Internet Protocol) के फायदे –

  • VOIP की सहायता से लम्बी दूरी में शुल्क कम लगता है।
  • VOIP की मदद से ट्रेवल की लागत में भी कमी आती है।
  • आवाज और डेटा दोनों के लिए VOIP एक बहुत प्रचलित सुविधा है।
  • VOIP किसी भी स्थान की परवाह किये बिना ही पोर्टेबल है।
  • VOIP की मदद से सभी फोन सिस्टम आपके साथ ट्रेवल की सुविधा प्रदान करते है।
  • VOIP के माध्यम से आप वॉल्यूम और कॉल समय का निर्धारित कर सकते है।
  • VOIP में ऑनलाइन कॉल मॉनिटरिंग और एक्सटेंशन जोड़े या कॉन्फ़िगर किये जा सकते है।

VOIP (Voice Over Internet Protocol) के नुकसान –

VOIP के लिए इंटरनेट का होना आवश्यक है बिना इंटरनेट के VOIP का उपयोग नहीं किया जा सकता है। VOIP के लिए इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होती है इंटरनेट कनेक्शन से हम VOIP सर्विस इस्तेमाल कर सकते है।

पढ़ें – सोशल मीडिया साइट क्या है, सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.

*