सर्च इंजन क्या होता है, उदाहरण, प्रकार एवं उपयोग

सर्च इंजन क्या होता है, उदाहरण, प्रकार एवं उपयोग – Search Engine

सर्च इंजन क्या होता है, सर्च इंजन के उदाहरण, सर्च इंजन के प्रकार एवं सर्च इंजन के उपयोग : सर्च इंजन (Search Engine) वेब या इंटरनेट पर किसी भी जानकारी को खोजने का एक माध्यम है। इंटरनेट पर लाखों वेबसाइट उपलब्ध हैं जिनपर उपलब्ध जानकारियों को प्राप्त करने के लिए उपयोगकर्ता द्वारा उन्हें खोजा जाता है, खोजी गई इन्हीं विभिन्न जानकारियों को सर्च इंजन सरलता पूर्वक उपलब्ध कराता है।

सर्च इंजन क्या होता है ? (What is search engine in hindi)

सर्च इंजन एक ऐसी सर्विस है जिसे हम इंटरनेट के माध्यम से एक्सेस कर सकते हैं। सर्च इंजन एक वेब बेस्ड टूल या सॉफ्टवेयर है जो इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को (www – word Wide Web) वर्ड वाइड वेब पर किसी भी जानकारी को प्राप्त करने में सहायता करता है।

सर्च इंजन पर कीवर्ड्स के माध्यम से यह की-फ्रेज के आधार पर उपयोगकर्ता के सामने वेब परिणामों की एक सूची प्रदर्शित करता है। कीवर्ड वे होते हैं जिसके विषय पर हम जानकारी लेना चाहते हैं और कीफ्रेज उस जानकारी से संबंधित पूरा सेंटेंस होता है यह गूगल या बाकी के सभी इंजन को बेस्ट मैच रिजल्ट दिखने में सहायक होता है। सर्च इंजन को हिंदी में खोज इंजन भी कहा जाता है।

वर्तमान सर्च इंजन इंटरनेट पर उपलब्ध सभी वेबसाइट को स्कैन (scan) और एनालाइज (Analyze) कर उस वेबसाइट पर उपलब्ध यूज़फूल डाटा को अपने सर्वर पर सेव रखते हैं। सर्च इंजन के ऐसा करने की प्रक्रिया को वेबसाइट क्रॉलिंग (Website crawling) कहा जाता है।

किसी यूजर के सर्च इंजन पर कुछ भी सर्च करते ही सर्च इंजन अपने डेटाबेस में पहले से ही वेबसाइट को स्कैन कर रखी गयी जानकारी को फ़िल्टर कर यूजर की सर्च की गयी जानकारी से मैच होती जानकारी को यूजर के सामने प्रदर्शित करता है और यह सब कुछ ही सेकण्ड्स के अंदर होता है।

यूजर द्वारा सर्च इंजन पर सर्च के लिए लिखे गए शब्दों को Keywords कहा जाता है।

सर्च इंजन के उदाहरण (Examples of Search engine in hindi)

वर्तमान में हम कई सर्च इंजन्स का उपयोग करते हैं जिनमें से कुछ प्रमुख सर्च इंजन्स निम्नलिखित हैं –

  • गूगल (Google) – गूगल की शुरुआत वर्ष 1997 में अमेरिकन कंप्यूटर साइंटिस्ट लैरी पेज और सेर्गेय ब्रिन के द्वारा की गयी थी। गूगल दुनियाभर में सबसे ज्यादा प्रयोग किये जाने वाला सर्च इंजन है। वर्तमान में गूगल में लगभग प्रति सेकंड 63000 सर्चेस किये जाते हैं और गूगल के पास सर्च इंजन मार्किट शेयर का लगभग 92.81% हिस्सा है। गूगल का इतना पॉपुलर होने की केवल एक ही वजह है इसका इंफोर्मशन डेटाबेस क्योकि इसमें कुछ भी सर्च करने पर तुरंत जवाब मिल जाता है।
  • बिंग (Bing) – बिंग को माइक्रोसॉफ्ट के CEO Steve Ballmer द्वारा वर्ष 2009 में शुरू किया गया था। बिंग सर्च इंजन की सूची में गूगल के बाद दूसरे नंबर पर है। बिंग सर्च इंजन मार्किट शेयर की लगभग 2.38% हिस्सेदारी के साथ दूसरे नंबर पर है। यह बहुत लोकप्रिय सर्च इंजन है इसे माइक्रोसॉफ्ट ने अपने पूराने सर्च इंजन लाइव सर्च और एमएसएन सर्च इंजन से रिप्लेस किया था।
  • याहू (Yahoo) – याहू एक सर्च इंजन और पोर्टल होने के साथ-साथ यह अन्य सुविधाएं भी प्राप्त कराने में सक्षम है जिसमे याहू मेल सबसे ज्यादा प्रचलित है। याहू की शुरुआत स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के दो स्टूडेंट जेरी यंग और डेविड फिलो के द्वारा वर्ष 1994 में बनाया गया था और वर्ष 1995 में इसका नाम याहू रखा गया, याहू का पूरा नाम Yet Another Hierarchical Officious Oracle (Yahoo) है। याहू में आप किसी भी विषय में जानकारी प्राप्त करने के लिए सर्च कर सकते हैं इसके अलावा हम इसमें कैलेंडर, फाइनेंस, गैजेट्स, रियल स्टेट, मेल, म्यूजिक और मूवी आदि भी देख सकते है।
  • AOL.COM – AOL एक अमेरिका वेब पोर्टल और ऑनलाइन सर्विस प्रोवाइडर कंपनी है। AOL सर्च इंजन का प्रयोग भारत में कम किया जाता है परन्तु इसमें बहुत सारी हिंदी वेबसाइट उपलब्ध है और यह हिंदी सर्च के हिसाब से एक अच्छा सर्च इंजन है। सर्च इंजन मार्किट में इसका लगभग 0.06% शेयर माना जाता है।
  • यांडेक्स (Yandex) – यांडेक्स की शुरुआत Arkady Valozh और Arkady Borvsky ने 1997 में की थी। यह रूस का सबसे प्रचलित सर्च इंजन है रूस में यांडेक्स को सबसे पॉपुलर सर्च इंजन का दर्जा दिया गया है। यांडेक्स में किसी भी जानकारी को सर्च करना गूगल की तरह ही आसान है। यह सर्च इंजन के अलावा अन्य सुविधाएँ भी प्राप्त करता है। भारत में इसका मार्किट शेयर मात्र 0.01% है।
  • डकडकगो (DuckDuckGo) सर्च इंजन – डकडकगो एक सर्च इंजन है जो विभिन्न सूचनाओं को यूर्जस तक पहुंचाने का कार्य करता है और यूजर्स की प्राइवेसी को सुरक्षित रखता है। डकडकगो को वर्ष 2008 में गेब्रियल वेनबर्ग द्वारा लॉन्च किया गया था। डकडकगो द्वारा अपने ऐप भी लॉन्च किये गए हैं जो प्लेस्टोर में डकडकगो प्राइवेसी ब्राउज़र के नाम से उपलब्ध है। डकडकगो गूगल और बिंग की तुलना में छोटा सर्च इंजन है डकडकगो की दुनियाभर के सर्च इंजनों में लगभग 1% भागीदारी है हालांकि यह पहले 7.2 बिलियन से अधिक सर्चेस कर चुका है।

सर्च इंजन के प्रकार (Types of Search Engine in hindi)

सर्च इंजन को प्रमुखतः तीन श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है जो निम्नलिखित है –

  1. Crawler Based Search Engine
  2. Directories Based Search Engine
  3. Hybrid Search Engine

क्रॉलर सर्च इंजन (Crawler Based Search Engine)

क्रॉलर सर्च इंजन के डेटाबेस की नई सामग्री को क्रोलर और इंडेक्स करने के लिए स्पाइडर, क्रौलर, रोबोट और बोट प्रोग्राम्स का प्रयोग करते है। यह किसी भी वेबसाइट को सर्च रिजल्ट में परिवर्तित करने के लिए क्रॉलिंग, इंडेक्सकिंग, कॅल्क्युलेटिंग Relevancy और Retrieving रिजल्ट इन सभी नियमों का पालन करना पड़ता है। गूगल, बिंग, याहू क्रौलर सर्च इंजन के प्रमुख उदाहरण हैं।

डायरेक्टरी सर्च इंजन (Directories Based Search Engine)

वेब डायरेक्टरी को सब्जेक्ट डायरेक्टरी के रूप में जाना जाता है। डायरेक्टरी सर्च इंजन को केटेगरी के आधार पर वेबसाइट्स की एक लिस्ट दी जाती है और वेब साईट किस विषय में है इसका एक छोटा डिस्क्रिप्शन भी दिया जाता है। इस तरह के सर्च इंजन पूरे मानव संचालित होते है इसमें वेबसाइट का ओनर इन डायरेक्टरीज में खुद अपनी वेबसाइट सबमिट कर सकता है। याहू, DMOZ, BOTM ये सभी डाइरेक्टरी सर्च इंजन के उदाहरण हैं।

हाईब्रिड सर्च इंजन (Hybrid Search Engine)

हाईब्रिड सर्च इंजन क्रॉलर और डायरेक्टरी सर्च इंजन का मिश्रण है इस केटेगरी में आने वाले सर्च इंजन क्रॉलर सर्च इंजन और डायरेक्टरी सर्च इंजन दोनों से वेब पेज लेकर अपने परिणामों को दिखाता है, लेकिन वर्तमान में हाइब्रिड सर्च इंजन पूरी तरह क्रॉलर में आधारित हो गए है। याहू, गूगल हाइब्रिड सर्च इंजन के उदाहरण हैं।

सर्च इंजन के उपयोग

सर्च इंजन का उपयोग जानकारियाँ प्राप्त करने, प्रश्नों के उत्तर ढूंढने, नयी जगह तलाशने, फ्लाइट, ट्रैन, बस आदि की बुकिंग आदि से जुडी विभिन्न वेबसाइटों को ढूंढने के लिए किया जाता है। आज के समय में सर्च इंजन का उपयोग बहुत व्यापक हो गया है, टिकट बुकिंग से लेकर, गाने, वीडियो फिल्मों, शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, समाचार, देश, विदेश से जुडी विभिन्न जानकारियों को प्राप्त करने के लिए सर्च इंजन का उपयोग किया जाता है।

पढ़ें वेब ब्राउज़र क्या है उदाहरण सहित समझाइए (What is a Browser in hindi)

1 Comment

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.

*