Category archive

History

ब्रिटिश राज के दौरान भारत के कुछ प्रमुख समाचार पत्र

ब्रिटिश राज के दौरान भारत के कुछ प्रमुख समाचार पत्र और पत्रिकाओं की सूची : ब्रिटिश राज के दौरान भारत के कुछ प्रमुख समाचार पत्र और पत्रिकाओं की सूची एवं उनके संस्थापक व संपादकों की सूची यहाँ दी गयी है – ब्रिटिश राज के दौरान भारत के कुछ प्रमुख समाचार पत्र और पत्रिकाओं की सूची… Keep Reading

गुमसुर का विद्रोह

गुमसुर का विद्रोह : गुमसुर का विद्रोह का विद्रोह अंग्रेजों के विरुद्ध था। धनंजय भंज ने 1835 ई० में गुमसुर की जमींदारी में लगान के बकाया को लेकर अंग्रेजों के विरुद्ध विद्रोह कर दिया। 1835 ई० के अंत में धनंजय की मृत्यु हो गयी लेकिन उसके बाद भी आम जनता ने इस विद्रोह को जारी रखा।… Keep Reading

कुर्ग का विद्रोह (दक्षिण भारत)

कुर्ग का विद्रोह (दक्षिण भारत) : कुर्ग का विद्रोह अंग्रेजों के विरुद्ध भारतीय लोगों द्वारा किया गया था। दक्षिण भारत में 1833-1834 में कुर्गवासियों द्वारा अंग्रेजों के विरुद्ध विद्रोह शुरू कर दिया गया। कुर्ग का विद्रोह संगठित नागरिक विद्रोह की मिसाल है। यदि वहां के राजा वीर राजा ने जनता की तरह ही बहादुरी दिखाई… Keep Reading

विशाखापट्टनम का विद्रोह

विशाखापट्टनम का विद्रोह (आंध्र प्रदेश) : विशाखापट्टनम का विद्रोह अंग्रेजों के विरुद्ध भारतीयों द्वारा किया गया था। मद्रास प्रेसीडेंसी के अन्तर्गत विशाखापट्टनम जिले में विद्रोहों की एक लम्बी श्रृंखला चली। पालकोण्डा के जमींदार विजयराम राजे ने 1793 ई० से 1796 ई० के बीच अंग्रेजों के साथ कई छुटपुट लड़ाइयाँ लड़ी। 1821 से 1831 के बीच फिर… Keep Reading

नेपोलियन बोनापार्ट

नेपोलियन बोनापार्ट का जन्म 15 अगस्त, 1769 में कोर्सिका के अजैसियों में हुआ था। नेपोलियन बोनापार्ट के पिता का नाम कार्लो बोना पार्ट था। नेपोलियन बोनापार्ट फ्रांस की क्रांति में सेनापति था। 1798 में नेपोलियन ने मिस्र के नगर अलेक्जेंड्रिया पर अधिकार कर लिया था। फ्रांस का प्रथम काउंसल (फ्रांस में एक पद था) बनने… Keep Reading

राजा राममोहन राय

राजा राममोहन राय का जन्म 22 मई 1772 में बंगाल में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था। राजा राममोहन राय को 15 वर्ष की आयु में ही बंगाली, संस्कृत, अरबी तथा फ़ारसी भाषाओं का अच्छा-खासा ज्ञान हो गया था। राजा राममोहन राय ने केवल 17 वर्ष की आयु में मूर्ति पूजा का विरोध किया। अपने… Keep Reading

स्वामी विवेकानंद

स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को कलकत्ता (वर्तमान कोलकाता) में हुआ था। स्वामी विवेकानंद के जन्म दिवस को “राष्ट्रीय युवा दिवस” के रूप में मनाया जाता है। स्वामी विवेकानंद का वास्तविक नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था। स्वामी विवेकानंद के पिता का नाम विश्वनाथ दत्त था जो एक प्रसिद्ध वकील थे। स्वामी विवेकानंद की… Keep Reading

कांग्रेस के महत्वपूर्ण अधिवेशन

कांग्रेस के महत्वपूर्ण अधिवेशन : भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा कई अधिवेशन हुए जिसमें से कुछ कांग्रेस के महत्वपूर्ण अधिवेशन यहाँ दिए गए हैं। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना 28 दिसम्बर, 1885 में हुई थी, कांग्रेस का जन्मदाता एलन ऑक्टेवियन ह्यूम को कहा जाता है क्योंकि वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के संस्थापकों में से एक थे।… Keep Reading

अहोम विद्रोह

अहोम विद्रोह : अहोम विद्रोह तात्कालिक आसाम में हुआ था जहाँ आहोम लोगों का राज्य था। यह विद्रोह अंग्रेजों के विरुद्ध हुआ था। 1824 में ईस्ट इंडिया कम्पनी (अंग्रेज) का बर्मा से युद्ध हुआ था जिसे प्रथम बर्मा युद्ध के नाम से जाना जाता है। इस युद्ध के दौरान अंग्रेज सेना आहोम होकर भेजी गयी… Keep Reading

रामोसी विद्रोह

रामोसी विद्रोह : रामोसी विद्रोह पूना में 1922 में हुआ था। यह विद्रोह पूना के रामोसी जनजाति के द्वारा अंग्रेजों के विरुद्ध किया गया था। पूना के रामोसी (मराठायुगीन पुलीस) अंग्रेजों के शासनकाल में बेरोजगार हो गए थे। साथ ही उनकी जमीनों पर अंग्रेजों द्वारा लगान भी लगा दिया गया था। ऐसे में रामोसियों ने… Keep Reading

1 2 3 10