बिट और बाइट क्या है ? बिट और बाइट में अंतर

बिट और बाइट क्या है ? बिट और बाइट में अंतर

बिट और बाइट क्या है ? बिट और बाइट में अंतर : बिट क्या होता है ?, बाइट क्या है ? बिट और बाइट में अंतर बताएं, 32- bit और 64-bit क्याहोता है ? What is a bit in hindi, what is a byte in hindi, Difference between bit and byte in hindi.

बिट (Bit) क्या होता है ? (What is a bit in hindi)

बिट (Bit) को बाइनरी डिजिट (Binary Digit) भी कहा जाता है जो कंप्यूटर पर डेटा या इन्फॉर्मेशन की सबसे छोटी डिजिट होती है, डेटा ट्रांसफर की स्पीड को हमेशा बिट्स में मापा जाता है। कोई भी कंप्यूटर सभी तरह के डेटा इनफार्मेशन जैसे – संख्याओं, शब्दों, वीडियो, म्यूजिक और इमेजेज इत्यादि को स्टोर करने के लिए बाइनरी नंबर सिस्टम (Binary Number System) का उपयोग करते है। कंप्यूटर प्रोसेसर के सर्किट में अरबों ट्रांसिस्टर होते है और प्रत्येक ट्रांसिस्टर एक छोटा स्विच होता है जो मिलने वाले इलेक्ट्रॉनिक सिग्नलों के द्वारा एक्टिव होता है जब कोई ट्रांसिस्टर ऑन होता है तो उसे ‘1’ माना जाता है और ऑफ होता है तो उसे ‘0’ माना जाता है। बाइनरी नंबर सिस्टम केवल ‘0’ और ‘1’ डिजिट के संयोजन का उपयोग करके गणना करता है इसमें ‘0’ और ‘1’ की फॉर्म जिसे मशीनी भाषा कहा जाता है उसमे स्टोर किया जाता है यानि बिट को एक जीरो और वन से परिभाषित किया जाता है। फोर बिट्स मिलकर एक निबल बनाते है जिसे हाफ बाइट कहा जाता है।

बाइट (Byte) क्या है ? (What is a Byte in hindi)

बाइट (Byte) कंप्यूटर की मेमोरी की एक यूनिट है जिसमें 8 बिट्स के समूह को ‘1’ बाइट कहा जाता है यानि आठ जीरो और वन की सीरीज को एक बाइट माना जाता है। बाइट इनफार्मेशन की 256 स्टेट्स को स्टोर कर सकती है। कंप्यूटर में बाइट बिट से आगे की इकाई होती है जिसका उपयोग हम डेटा को मापने के लिए करते है। एक ‘B’ को हमेशा बाइट कहा जाता है उदाहरण के लिए – 250GB गीगाबाइट में कैपिटल ‘B’ का मतलब बाइट होता है और स्मॉल ‘b’ का मतलब बिट्स होता है और 1024 बाइट मिलकर 1 किलोबाइट बनाते है।

बिट (Bit) और बाइट (Byte) में अंतर – (Difference between Bit and Byte in hindi)

  • बिट कंप्यूटर की मेमोरी की सबसे छोटी इकाई होती है जबकि 8 बिट मिलकर 1 बाइट बनता है।
  • बिट को ‘b’ से दर्शाया जाता है और बाइट को ‘B’ से दर्शाया जाता है।
  • बिट डाटा की एक छोटी इकाई है जबकि बाइट डाटा की बड़ी इकाई है।
  • बिट में केवल 0 और 1 दो संख्याएँ ही होती है जबकि बाइट में सभी संख्याओं का उपयोग  किया जाता है।
  • एक बिट दो अलग-अलग वैल्यू जीरो और वन को स्टोर करता है इसके विपरीत बाइट सामान्यतः 256 विभिन्न वैल्यू को स्टोर करता है।
  • डेटा ट्रांसफर स्पीड को बिट्स में मापा जाता है और डेटा साइज को बाइट में मापा जाता है।
  • बिट को बाइनरी संख्या के रूप में भी जाना जाता है, जबकि बाइट को डेसिमल नंबर भी कहा जाता है।

32- bit और 64-bit क्या होता है ?

32-बिट और 64-बिट यह दर्शाते है की किसी कंप्यूटर का प्रोसेसर सीपीयू रजिस्टर से एक बार में कितनी बार मेमोरी एक्सेस कर सकता है। 32-बिट प्रोसेसर ज्यादातर 4जीबी और उससे कम मेमोरी को एड्रेस कर सकते है जबकि 64-बिट 18, 446, 744, 073, 709, 551, 616 बाइट और 18.4 एक्साबाईट मेमोरी एड्रेस कर सकता है। 64-बिट प्रोसेसर 32-बिट प्रोसेसर से अधिक सक्षम होते है क्योंकि 64-बिट एक बार में बहुत अधिक डाटा को होल्ड कर सकता है। 64-बिट प्रॉसेसर 4GB से अधिक की किसी भी रैम को एक्सेस कर सकता है। 64-बिट प्रोसेसर ड्यूल कोर, क्वैड कोर, सिक्स कोर और ऐट कोर वर्जन में आते है। 32-बिट प्रोसेसर के लिए 32-बिट ऑपरेटिंग सिस्टम की आवश्यकता होती है और 64-बिट प्रोसेसर में 32 और 64-बिट दोनों तरह के ऑपरेटिंग सिस्टम कार्यों को कर सकते है।

प्रातिक्रिया दे

Your email address will not be published.

*