Category archive

History - page 2

कित्तूर का विद्रोह

कित्तूर का विद्रोह (कर्नाटक) : कित्तूर का विद्रोह कर्नाटक में 1824 ई० में अंग्रेजों के मध्य हुआ था। कित्तूर के विद्रोह का नेतृत्व महारानी चेनम्मा ने किया था। रानी चेनम्मा भारत के कर्नाटक के कित्तूर राज्य की रानी थीं। कित्तूर कर्नाटक के बेलगांव जिले के अन्तर्गत एक जगह है। तृतीय आंग्ल-मराठा युद्ध के बाद अंग्रेजों ने… Keep Reading

पाइका विद्रोह या उड़ीसा के पायकों का विद्रोह

पाइका विद्रोह या उड़ीसा के पायकों का विद्रोह : पाइका विद्रोह उड़ीसा में हुआ था इसे उड़ीसा के पायकों का विद्रोह या पाइका जाति का विद्रोह भी कहा जाता है। पाइका विद्रोह को उड़ीसा (ओडिशा) में बहुत उच्च दर्ज़ा प्राप्त है। 2017 में इस विद्रोह की 200वीं वर्षगाँठ पर भारत सरकार द्वारा पाठ्य पुस्तकों में… Keep Reading

अलीगढ़ का विद्रोह

अलीगढ़ का विद्रोह अलीगढ़ विद्रोह 1817 ई0 में हुआ था तब अलीगढ़ आगरा प्रान्त के अंतर्गत आता था। अलीगढ़ विद्रोह का नेतृत्व हाथरस के तालुकेदार दयाराम और मुरसान के तालुकेदार भगवन्त सिंह ने किया था। अलीगढ़ में किसान, जमीदार एवं भारतीय सैनिक, ईस्ट इण्डिया कंपनी की प्रशासनिक फेरबदल से असंतुष्ट थे। जब ईस्ट इंडिया कंपनी… Keep Reading

बरेली का विद्रोह

बरेली का विद्रोह : 1857 की क्रांति में बरेली में हुए विद्रोह से पहले भी 1816 ई० में बरेली की जनता ने अंग्रेजों के विरुद्ध विद्रोह किया था जिसको बरेली का विद्रोह कहा जाता है। बरेली विद्रोह उत्तर प्रदेश के बरेली नामक स्थान पर 1816 ई० स्थानीय अंग्रेज अधिकारियों की ज्यादतियों के कारण बरेली के लोगों… Keep Reading

त्रावणकोर का विद्रोह

त्रावणकोर का विद्रोह : त्रावणकोर का विद्रोह केरल के त्रावणकोर में 1808-09 में हुआ था। त्रावणकोर विद्रोह अंग्रेजों की खिलाफ शुरू हुआ था। त्रावणकोर विद्रोह को ‘दिवान वेलुथम्पी या बेलूथम्पी का विद्रोह’ भी कहा जाता है। त्रावणकोर विद्रोह का नेतृत्व वहाँ के दीवान वेलू थम्पी द्वारा किया गया था। त्रावणकोर में वहाँ के दीवान वेलू थम्पी… Keep Reading

नायक विद्रोह

नायक विद्रोह (बंगाल) : नायक विद्रोह अंग्रेजों के विरुद्ध शुरू हुआ था। नायक विद्रोह बंगाल के मेदिनीपुर जिले में शुरू हुआ था। जिसे बगड़ी राज्य की नायक जाति (रैयतों) ने शुरू किया था। बंगाल में मेदनीपुर जिले में हुआ यह नायक विद्रोह उन रैयतों ने किया था, जिन पर ईस्ट इंडिया कंपनी ने बढ़ा हुआ… Keep Reading

वेल्लोर का सिपाही विद्रोह

वेल्लोर का सिपाही विद्रोह (मैसूर) : वेल्लोर का सिपाही विद्रोह, वेल्लोर विद्रोह के नाम से भी जाना जाता है। वेल्लोर विद्रोह अंग्रेजों के विरुद्ध अंग्रेजी सेना में शामिल भारतीय सैनिकों द्वारा किया गया पहला हिंसक विद्रोह था। वेल्लोर विद्रोह 1806 ई० में हुआ था। ईस्ट इण्डिया कंपनी के भारतीय सिपाहियों ने वेल्लोर में विद्रोह कर… Keep Reading

पाड्यगारों का विद्रोह

पाड्यगारों का विद्रोह (तमिलनाडु) : पाड्यगारों का विद्रोह दक्षिण भारत में अंग्रेजों के विरूद्ध हुए विद्रोहों में सबसे बड़ा विद्रोह था। पाड्यगार विद्रोह का मुख्य केन्द्र तमिल नाडु में था। पाड्यगारों का विद्रोह 1801 से 1805 ई० तक चला। पाड्यगार विद्रोह का नेतृत्व कट्टबोम नायकन नामक पाण्डयूगार ने किया था। कट्टबोम नायकन को अंग्रेजों का… Keep Reading

सावंतवादी विद्रोह

सावंतवादी विद्रोह : सावंतवादी विद्रोह भारतीयों द्वारा अंग्रेजों के विरुद्ध शुरू किया गया था। सावंतवादी विद्रोह 1884 में हुआ था। सावंतवादी विद्रोह का नेतृत्व मराठा सरदार फोन्ड सावंत ने किया था। सावंत के कुछ सरदारों तथा देसाइयों की सहायता से दक्कन के कुछ किलों पर अधिकार कर लिया गया। बाद में अंग्रेजी सेना ने मुठभेड़… Keep Reading

कूका विद्रोह

कूका विद्रोह (पंजाब) : कूका विद्रोह की शुरुआत पंजाब में 1860-1870 ई० में एक धार्मिक आंदोलन के रूप में हुई थी। लेकिन धीरे-धीरे यह विद्रोह राजनीतिक विद्रोह के रूप में परिवर्तित हो गया। यह विद्रोह भी अंग्रेजों के विरुद्ध ही था जिसका मकसद अंग्रेजों को भारत से निकालना था। कूका विद्रोह सिखों के नामधारी संप्रदाय… Keep Reading