रानी कर्णावती – नाक कटी रानी (नक्कटी रानी) की कहानी

रानी कर्णावती, पवांर वंश के राजा महिपतशाह की पत्नी थी। उनके जन्म व जन्मस्थान के सम्बंधित कोई भी ठोस जानकारी उपलब्ध नही है। यह वही महिपतशाह थे जिनके शासन में माधोसिंह जैसे सेनापति हुए थे। Keep Reading

माधो सिंह भंडारी की अविस्मरणीय कहानी

माधो सिंह भंडारी जिन्हें माधो सिंह मलेथा भी कहा जाता है। उनका जन्म सन 1595 के आसपास टिहरी जनपद के मलेथा गांव में हुआ था। उनके पिता का नाम सोणबाण कालो भंडारी था। जो वीरता के लिए प्रसिद्ध थे। Keep Reading

जिया रानी – मौला देवी

जिया रानी का बचपन का नाम मौला देवी था। वो हरिद्वार (मायापुर) के राजा अमरदेव पुंडीर की पुत्री। थी। सन 1192 में देश में तुर्कों का शासन स्थापित हो गया था। Keep Reading

तीलू रौतेली- (गढ़वाल की झाँसी की रानी)

गढ़वाल की एक ऐसी वीरांगना जो केवल 15 वर्ष की उम्र में रणभूमि में कूद पड़ी थी और सात साल तक जिसने अपने दुश्मन राजाओं को छठी का दूध याद दिलाया था। गढ़वाल की इस वीरांगना का नाम था 'तीलू रौतेली'। Keep Reading

पंडित नैनसिंह रावत – भारतीय वैज्ञानिक

पंडित नैन सिंह रावत की जीवनी : पंडित नैन सिंह रावत (Pt. Nain Singh Rawat) का जन्म उत्तराखण्ड राज्य के पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी तहसील के मिलम गांव में 21 अक्टूबर 1830 को हुआ था। नैन सिंह रावत के पिता का नाम अमर सिंह था। जन्म 21अक्टूबर, 1830 मृत्यु 1 फरवरी, 1895 जन्मस्थान मिलम गांव, पिथौरागढ़… Keep Reading

न्याय के देवता ‘गोलू देवता’ की कहानी

गोलू देवता जिन्हें न्याय का देवता भी माना जाता है वह अपने न्यायप्रिय स्वभाव एवं सभी की कामनाएं पूर्ण करने के कारण विश्व प्रसिद्ध हैं। ऐसी लोक कथा है की गोलू देवता, कत्यूरी राजवंश के राजा झालुराई की इकलौती संतान थे। Keep Reading

बैरिस्टर मुकुन्दी लाल – सामाजिक कार्यकर्ता, वकील

बैरिस्टर मुकुन्दी लाल (Barrister Mukundi Lal) का जन्म 14 अक्टूबर, 1885 में चमोली जिले के पाटली गांव में हुआ था। उनकी प्रारम्भिक शिक्षा चोपड़ा (पौड़ी) के मिशन हाईस्कूल में हुई, उन्होंने हाईस्कूल और इण्टरमीडियेट की परीक्षा रैमजे इंटर कालेज, अल्मोड़ा से प्राप्त की थी। Keep Reading

गोविंद बल्लभ पंत – भारत रत्न (हिम पुत्र)

गोविन्द बल्लभ पंत की जीवनी : गोविन्द बल्लभ पंत का जन्म 10 सितम्बर, 1887 को अल्मोड़ा के खूंट (धामस) नामक गाँव में ब्राह्मण परिवार में हुआ था। गोविन्द बल्लभ पंत के पिता का नाम मनोरथ पंत व माँ का नाम गोविंदी बाई पंत था। गोविंद बल्लभ पंत जो भारत रत्न एवं हिम पुत्र नामों से भी जाना जाता है। छोटी सी… Keep Reading

वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली – पेशावर कांड के नायक

चन्द्र सिंह भंडारी 'गढ़वाली' (Veer Chandra Singh Garhwali) का जन्म 25 दिसम्बर 1891 में गढ़वाल के मासी ग्राम में हुआ था। चन्द्र सिंह के पिता का नाम जलौथ सिंह भंडारी था। Keep Reading

इंद्रमणि बडोनी – उत्तराखंड के गाँधी (सामाजिक कार्यकर्ता)

इन्द्रमणि बडोनी (Indramani Badoni) का जन्म 24 दिसम्बर 1925 को तत्कालीन टिहरी रियासत के जखोली ब्लॉक के अखोड़ी गाँव में हुआ था। उनके पिता का नाम पं. सुरेशानन्द बडोनी था। Keep Reading

1 93 94 95 96 97 104