Category archive

हिंदी व्याकरण

विराम चिन्ह के प्रकार

विराम चिन्ह के प्रकार – विराम का अर्थ होता है, ठहराव लेना या रुकना। लेखन को प्रभावी रूप देने के लिए लेखक द्वारा कई प्रकार के विराम चिन्हों का प्रयोग किया जाता है जोकि लेखन में भावों की अभिव्यक्ति, वाक्य का अर्थ स्पष्ट करने, उतार-चढाव और ठहराव को दर्शाने के लिए आवश्यक होते हैं। ऐसे ही विशेष चिन्हों को… Keep Reading

समास व समास के भेद

समास की परिभाषा समास :— दो अथवा दो से अधिक शब्दों से मिलकर बने हुए नए सार्थक शब्द (अर्थपूर्ण शब्द) को समास कहते हैं। अर्थात जब कोई दो शब्द मिलकर एक ऐसे नये शब्द का निर्माण करें, जिसका कोई अर्थ हो, ऐसे नए शब्दों को ही समास कहा जाता है। समास रचना में प्रायः दो पद अर्थात दो… Keep Reading

मुहावरे और कहावतें

प्रतियोगी परीक्षाओं में आने वाले प्रमुख व महत्वपूर्ण मुहावरे और कहावतें (important idioms and proverbs) यहाँ दी गयी हैं। जोकि विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं। मुहावरा क्या है – ऐसा वाक्यांश है शब्दों का समूह जो अपने सामान्य अर्थ को छोड़कर किसी विशेष अर्थ को व्यक्त करते हैं ऐसे वाक्यांशों को व्याकरण की दृष्टि… Keep Reading

संज्ञा और संज्ञा के भेद

संज्ञा (Noun) की परिभाषा किसी व्यक्ति, गुण, प्राणी व जाति, स्थान (जगह), वस्तु, क्रिया और भाव आदि के नाम को संज्ञा कहा जाता है। जैसे – पशु, पक्षी, मानव (जाति व प्राणी), दिल्ली, मंदिर (स्थान व जगह), दादा, दादी, सुरेश, रमेश (व्यक्ति), पेन, किताब, साइकिल (वस्तु), हँसना, रोना, गाना (भाव), सुन्दर, साफ सुथरा (गुण), भागना, खाना, मारना-पीटना (क्रिया) उदाहरण… Keep Reading